Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi? | Artificial Intelligence In Hindi

what is artificial intelligence with examples ;आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे और नुकसान ;भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ;कृत्रिम बुद्धि के फायदे ;आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स ;कृत्रिम बुद्धि pdf ;कृत्रिम बुद्धिमत्ता के प्रकार ;आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के नुकसान

Artificial Intelligence Kya Hai in Hindi? | Artificial Intelligence In Hindi : Hello दोस्तों स्वागत है आपका  technicalbandu.com  के इस नए पोस्ट मैं जिसमें आप जानेंगे की Artificial Intelligence Kya Hai in Hindi? | Artificial Intelligence In Hindi की हर चीज़ के बारे मे जानेगे |

पिछले कुछ सालों में AI (Artificial Intelligence) के क्षेत्र में तेजी से विकास हुआ है। साथ ही कई ऐसी लाजवाब मशीनें बनी हैं, जो बिल्कुल इंसानों की तरह सोचने-समझने और निर्णय लेने में सक्षम हैं। लेकिन सवाल यह है कि यह Artificial Intelligence है क्या? और यह कैसे काम करती है? साथ ही इसका हमारे दैनिक जीवन में क्या उपयोग है? और इसका भविष्य क्या है? क्या भविष्य में AI Technology हमारे लिए खतरा बन सकती है? आइए, विस्तार से जानते हैं।



Artificial Intelligence In Hindi (एआई) क्या है?                               आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कंप्यूटर साइंस का एक सब-डिवीजन है और इसकी जड़ें पूरी तरह से कंप्यूटिंग सिस्टम पर आधारित हैं। एआई का अंतिम लक्ष्य ऐसे उपकरणों का निर्माण करना है जो बुद्धिमानी से और स्वतंत्र रूप से कार्य कर सकें और मानव श्रम और मैनुअल काम को कम कर सकें। यह मानव बुद्धि की नकल करने के लिए मशीन लर्निंग का उपयोग करता है। सिरी, एलेक्सा, टेस्ला कार और डिजिटल एप्लिकेशन जैसे नेटफ्लिक्स और अमेज़ॅन एआई प्रौद्योगिकियों के कुछ बेहतरीन उदाहरण हैं। मैकेनिकल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, एप्लाइड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ-साथ रोबोटिक्स और ऑटोमेशन इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के साथ-साथ स्नातक की डिग्री और मास्टर डिग्री की पेशकश की जाती है।जिसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में करियर बनाने के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है। इसके अलावा, इस क्षेत्र में एक अकादमिक कार्यक्रम का अध्ययन, आप एआई की विस्तृत और जटिल अवधारणाओं के साथ-साथ कुशल डिजिटल और रोबोटिक उपकरणों के निर्माण के लिए उपयोग की जाने वाली विभिन्न तकनीकों के ज्ञान से लैस होंगे। यहाँ कुछ प्रमुख विषय दिए गए हैं जिनसे आप AI पाठ्यक्रमों में पढ़ने की उम्मीद कर सकते हैं: | Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi?

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस डिजाइन
  • क्लाउड कम्प्यूटिंग
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का अनुप्रयोग
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोग्रामिंग
  • एआई सिस्टम
  • नेटवर्क विश्लेषण

Internet Of Things In Hindi | Internet Of Things (IOT) Kya Hai?

Machine Learning Kya Hai? | What is Machine Learning in Hindi

 

History Of Artificial Intelligence In Hindi

वैसे तो प्राचीन समय से ही कृत्रिम शिल्पों के मिथकों, कहानियों और अफ़वाहों के साथ मास्टर कारीगरों की सोच से Artificial Intelligence History के बारे में जानकारी प्राप्त होती है परन्तु आधुनिक AI शास्त्रीय दार्शनिकों द्वारा शुरू की गयी। जिन्होंने मानव सोच को यांत्रिक हेरफेर के रूप में प्रदर्शित करने का प्रयास किया तथा इस कार्य का समापन 1940 के दशक में प्रोग्रामेबल डिजिटल कंप्यूटर के आविष्कार में हुआ, जो कि गणितीय तर्क पर आधारित एक मशीन थी। Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) काम कैसे करती है?

यह समझने के लिए कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वास्तव में कैसे काम करता है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न क्षेत्रों को जानने और समझने की जरूरत है, जो निम्नलिखित हैं-

मशीन लर्निंग (Machine Learning in Hindi)

मशीन लर्निंग किसी मशीन को या किसी रोबोट को पिछले अनुभव के आधार पर अनुमान लगाना और निर्णय लेना सिखाती है। मशीन लर्निंग द्वारा, इंसानी अनुभव को शामिल किए बिना पैटर्न की पहचान करना और किसी संभावित निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए और अर्थ का अनुमान लगाने के लिए पिछले डेटा का विश्लेषण करती है। इस तरह डेटा का मूल्यांकन करके निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए यह ऑटोमेशन के जरिये इंसानो के लिए समय की बचत करती है और उन्हें बेहतर निर्णय लेने में मदद करती है।

डीप लर्निंग  (Deep Learning)

डीप लर्निंग एक मशीन लर्निंग की ही तकनीक है। डीप लर्निंग एक मशीन को सिखाती है कि किस तरह लेयर्स में इनपुट होना चाहिए ताकि उसका अनुमान लगाने और वर्गीकरण करने पर सबसे बेहतर परिणाम मिले।

डीप लर्निंग और मशीन लर्निंग दोनों ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के दायरे में आते हैं, और डीप लर्निंग, मशीन लर्निंग के दायरे में आता है।

न्यूरल नेटवर्क्स (Neural Networks)

न्यूरल नेटवर्क मानव तंत्रिका कोशिकाओं की तरह ही समान सिद्धांतों पर काम करता हैं। यह एल्गोरिदम की एक श्रृंखला है जो अलग अलग तरह की जानकारी और उनके बीच के सम्बंधों को समझती है और उस डेटा को इंसानी दिमाग की तरह उत्तर देती है।



आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस चार प्रकार के होते है। 

  • 1- Reactive Machines
  • 2- Limited Memory
  • 3- Theory of Mind
  • 4- Self-conscious  {आत्म-चेतन}

1- Reactive Machines

Reactive Machines – प्रतिक्रियाशील मशीनें जो किसी भी यादों को संग्रहीत करने में सक्षम नही होती और निर्णय लेने के लिए पिछले अनुभवों का उपयोग करने की क्षमता भी नहीं होती।

  • उदाहरण – सन 1990 में IBM द्वारा बनाया गया शतरंज खेलने वाला सुपर कंप्यूटर “Deep Blue” जिनसे उस समय के मशहूर शतरंज खिलाड़ी Garry kasparov को शतरंज के खेल में हरा दिया।
  • Deep Blue एक एसा सुपरकंप्यूटर था जो शतरंज के बोर्ड पर बने काँलम को पहचान सकता था और परिस्थितियों का विश्लेषण कर संभावना को देखते हुए अपनी चाल को चलता था।
  • सुपरकंप्यूटर के अंदर कोई भी पिछले अनुभव नही थे, ना ही वो memory को स्टोर करने में सक्षम था।  Deep blue सब कुछ नजरअंदाज करके अपने विरोधी की वर्तमान चाल को देखते हुए निर्णय लेता था। उसको इससे मतलब ही नही था कि उसने पहले कौन सी चाल चली थी।

2- Limited Memory 

  • इस तरह के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रणाली बीते हुए समय का डेटा स्टोर कर सकते है, और पुराने डेटा का उपयोग कर भविष्य के लिए निर्णय भी ले सकते है। उनमे क्षमता होती है कि ऐतिहासिक डेटा से सीख सके और खुद से निर्णय ले सकें।
  • इसका उपयोग बिना ड्राइवर वाली गाड़ियों में किया जाता है, बिना ड्राइवर वाली गाड़ियों को कुछ इस प्रकार से बनाया जाता है कि वो रोड पर चल रही गाड़ियों की स्पीड, ब्रेकर्स को observe करके भविष्य में होने वाले हादसों को रोका जा सकें। ये observation और memory हमेसा के लिए स्टोर नही होती है।

3- Theory of Mind

  • जो हमने पहले के दो ( AI ) के प्रकार की बात की आज उनका उपयोग व्यापक रूप से हो रहा है। लेकिन अब हम बात करने जा रहे है AI के दो एसे प्रकार जो केवल विचारों और थ्योरी में मौजूद है। अभी उनपर काम चल रहा है।
  • इसके पीछे विचार यह है कि हम मानव व्यवहार, भावनाओं और इच्छाओं को समझने के लिए मशीनों को कैसे सक्षम कर सकते हैं। यह एक बहुत ही जटिल तकनीक है, जिस पर अभी भी काम किया जा रहा है।
  • यदि भविष्य में AI सिस्टम को इंसानों के बीच रहना है तो उन्हें यह समझना जरूरी की हर इंसान की इच्छायें, भावना और विचार अलग – अलग होते है। इनको ध्यान में रखते हुए उनसे किस प्रकार से बातचीत की जाए।

4- Self-conscious {आत्म-चेतन}

  • Self-conscious – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का अंतिम चरण है मशीन के अंदर आत्म चेतना जगाना। ताकि वो अपने वजूद के बारे में जान सकें कि उनका वजूद है। इसको ही पाने के लिए सारे साइंटिस्ट लगातार काम कर रहे है।
  • आत्म-चेतन – जैसे की मैं जानता हूं कि मेरा वजूद है। हम इस दुनिया को प्रकृति को देख कर बिना कोई विचार के महसूस कर सकते है।
  • यदि रोबोट्स मनुष्यों की तरह ही अपने वजूद को लेकर aware हो जाए कि उनका वजूद है। तो इंसानों और मशीनों में कोई अंतर नही रहेगा।
  • लेकिन अभी हमे ये तक नही पता कि इंसान के अंदर चेतना आती कहा से है, ये उत्पन्न कैसे होती यदि हमने इसे समझ लिया तो शायद हम भविष्य में इंसानों जैसे रोबोट्स को बना पाए।

Artificial Intelligence Course

आज के समय में Artificial Intelligence की डिमांड काफी बढ़ गई है, और इस technology का लोगों में काफी उत्साह भी है। आजकल Artificial Intelligence को कॉलेजों में भी पढाया जाता है, युवाओं में यह कोर्स बहुत लोकप्रिय है। हमने कुछ कॉलेजों की लिस्ट दी है जो कि इस प्रकार है: | Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi?

संस्था का नाम पाठ्यक्रम का नाम
गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय M.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स में
जेवियर स्कूल ऑफ कम्प्यूटर साइंस एंड कम्प्यूटर, जेवियर यूनिवर्सिटी भुवनेश्वर M.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में
एमिटी यूनिवर्सिटी, गुरुग्राम M.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स में
राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, श्रीनगर सर्टिफिकेट इन रोबोटिक प्रोग्रामिंग एंड मेंटेनेंस
चंडीगढ़ विश्वविद्यालय आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग में एम.ई.
एजिस स्कूल ऑफ बिजनेस, डेटा साइंस, साइबर सिक्योरिटी एंड टेलीकम्युनिकेशन आईबीएम के साथ मिलकर एप्लाइड एआई, मशीन लर्निंग और डीप लर्निंग में पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, गोरखपुर रोबोटिक्स में सर्टिफिकेट
IIT जोधपुर – भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IITJ) M.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में
PU – पूर्णिमा विश्वविद्यालय एआई और प्रोसेस ऑटोमेशन में बीसीए
SSOU – सिम्बायोसिस कौशल और मुक्त विश्वविद्यालय पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन डेटा साइंस एंड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस
iLEAD इंस्टीट्यूट ऑफ लीडरशिप, एंटरप्रेन्योरशिप एंड डेवलपमेंट एमएससी मानव कम्प्यूटिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में
उषा मार्टिन यूनिवर्सिटी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग में डिप्लोमा



Artificial Intelligence के उदाहरण

आज AI एक बहुत ही लोकप्रिय विषय है, जिसकी टेक्नोलॉजी और बिज़नेस के क्षेत्रो में काफी चर्चा है। कई विशेषज्ञों और उद्योग के जानकारों का मानना है, की AI या machine learning हमारा भविष्य है। लेकिन अगर हम अपने चारों तरफ देखे तो हम पाएंगे की यह हमारा भविष्य नही बल्कि वर्तमान है। टेक्नोलॉजी के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से Artificial Intelligence से जुड़े हुवे है और इसका फायदा भी ले रहे है। हां, यह बात जरूर है कि AI technology अपने पहले चरण में है। Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi?

अभी हाल में कई कंपनियों ने machine learning पर काफी निवेश किया है। जिसके कारण कई AI product और Apps हमारे लिए उपलब्ध हुवे है। तो चलिये अब हम आपको आज इस्तेमाल होने वाले कुछ ऐसे AI example देते है, जिससे आप और अच्छी तरह से समझ पाएंगे कि Artificial Intelligence किसे कहते है?

  • Siri

Siri के बारे में शायद आपने जरूर सुना होगा यह Apple द्वारा पेश किया गया सबसे लोकप्रिय आभासी सहायक (virtual assistant) है। हालांकि यह सिर्फ iPhone और iPad में उपलब्ध है। यह AI का सबसे बेहतरीन उदाहरण है, इससे बस आप ‘Hey Siri’ बोलिये और यह आपके लिए मैसेज भेज सकता है, इंटरनेट पर इनफार्मेशन ढूंढ सकता है, फ़ोन कॉल कर सकता है, कोई भी एप्लीकेशन ओपन कर सकता है यहां तक कि टाइमर सेट व कैलेंडर में इवेन्ट सेव करने जैसे कामो में आपकी सहायता कर सकता है।

Siri आपकी भाषा और सवालो को समझने के लिए Machine Learning तकनीक का प्रयोग करती है। यह सबसे अनुकूल वॉइस एक्टिवेटिड कंप्यूटर है। इससे संबंधित डिवाइस Alexa और Google Assistant भी है। जो समान कार्य के लिए ही प्रयोग किये जाते है।

  • Tesla

न केवल Smartphones बल्कि Automobiles भी Artificial Intelligence की ओर बढ़ रहे है। अगर आप एक कार गीक है, तो आप Tesla के बारे में जानते होंगे। यह अब तक उपलब्ध सबसे बेहतरीन Automobiles में से एक है। Tesla car में न केवल self driving बल्कि उत्पादक क्षमताओं और पूर्ण तकनीकी नवाचार जैसे फीचर उपलब्ध है। ऐसी ही न जाने कितनी self driving car और बन रही है जो आने वाले वक्त में और भी स्मार्ट हो जाएगी।

  • Google Map

वैसे Google कई क्षेत्र में AI का इस्तेमाल करता है। लेकिन Google map में AI technology का अच्छा इस्तेमाल हुआ है। हमको किसी भी जगह का रास्ता बताने के लिए AI मैपिंग के साथ giant’s technology सड़क जानकारी को स्कैन करती है और अल्गोरिथ्म्स का प्रयोग करके सही रूट को हमे बताती है। अभी Google ने अपनी वॉइस असिस्टेंट में सुधार करके और रियल टाइम में संवर्धित वास्तविकता नक्शे बनाकर अपने google map में Artificial intelligence को और आगे बढ़ाने की योजना बनाई है।

  • Nest

Nest सबसे प्रसिद्ध और Artificial intelligence स्टार्टअप में से एक था और इसे 2014 में Google द्वारा खरीद लिया गया। नेस्ट लर्निंग थर्मोस्टेट आपके व्यवहार और दिनचर्या के आधार पर एनर्जी को बचाता है। ऐसा करने के लिए यह व्यवहार एल्गोरिदम का उपयोग करता है। यह इतनी इंटेलीजेंट मशीन है, कि सिर्फ एक हफ्ते में ही आपके लिए उपयोगी तापमान का पता लगा लेती है। अगर घर मे कोई न हो तो यह ऊर्जा बचाने के लिए ऑटोमेटिकली टर्न ऑफ हो जाती है।

  • Echo

Echo को Amazon द्वारा लांच किया गया था। यह एक ऐसा क्रांतिकारी प्रोडक्ट है, जो आपके सवालो के जवाब दे सकता है, आपके लिए ऑडियो-बुक पढ़ सकता है, आपको ट्राफिक और मौसम का हाल बता सकता है, लोकल बिज़नेस के बारे में जानकारी उपलब्ध करा सकता है तथा स्पोर्ट्स स्कोर भी प्रदान कर सकता है। Echo में और भी बड़े बदलाव किए जा रहे है जिससे यह नई सुविधाओं को जोड़ता जा रहा है। उम्मीद है, आने वाला वक्त Echo को और भी स्मार्ट बना देगा।




Conclusion

दोस्तो दुनिया मे कई तरह की technology जो लोगो के लिए काफी फायदेमंद हो रही है और नुकशान भी कर रही है। ये depend करता है आपके ऊपर की आप उस टेक्नोलॉजी का उपयोग कैसे करते हो। technology की वजह से लोग अपने काम आसानी से कर पा रहे है लेकिन साथ मे हैम लोग उस पर depended होते जा रहे है। जिसे देखकर ऐसा लगता है कि आने वाले time में हम लोग पूरी तरह से इस technology के गुलाम बनने वाले है जो एक अच्छा संकेत नही है।

मुझे आशा है की आप लोगो को समझ आगया होगा की  Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi? | Artificial Intelligence In Hindi दोस्तों अगर आपको मेरा ये Article अच्छा लगा हो तो Share जरूर करे | 

Thanks for reading

Be the first to comment on "Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi? | Artificial Intelligence In Hindi"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*