CMS Kya Hai? CMS कैसे काम करता है

ms full form in medical ;cms full form in hindi ;css क्या है ;cms full form in medical in hindi ;cma क्या होता है ;जावास्क्रिप्ट का परिचय ;सीएमएस

CMS Kya Hai? CMS कैसे काम करता है।: Hello दोस्तों स्वागत है आपका technicalbandu.com के इस नए पोस्ट मैं जिसमें आप जानेंगे की CMS Kya Hai? CMS Use कैसे करते हैं? इस पोस्ट को पढ़कर आपको कही और जाने की जरूरत नही है क्योंकि आज मैं आपको AnyDesk Kya Hai? से Related सब Points Clear करूंगा.उसके लिए बस आपको इस पोस्ट को Last तक पढना है |

CMS Kya Hai? | What Is CMS In Hindi

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की CMS एक Content Management Software है। CMS Software का उपयोग ज्यादातर उन Users के द्वारा किया जाता है, जो अपने Website के Page को Manage करना चाहते हैं। यह Software Website Page को Manage करने का सबसे अच्छा Software माना जाता है। इस Software को खास तौर पर इस तरह Design किया गया है, कि इसकी Help से कई लोग एक ही Website पर एक साथ Work यानि इसे Update कर सकते हैं।

CMS Computer का एक Software है। पहले CMS Software का Use Computer Files को Manage करने के लिए किया जाता था, लेकिन अब इसका इस्तेमाल Web Page को Manage करने के लिए किया जाता है।
अगर हम और Detail में CMS के बारे में बात करें तो जब आप कोई वेबसाइट Create करते हैं, तब आपको पूरे Code कहीं पर रखना होता है और Images को भी कहीं पर रखना होता है। कहने का मतलब यह है, कि आपको Website को इस तरह से Manage करना होता है की वह Website तेज़ी से Open हो सके।

मतलब जब आप कोई Website Create करते हैं, तब आप उसमे एक Login Panel भी देते हैं, ताकि उसमें सिर्फ आप मतलब Admin ही Login कर सके और उस Login को Security Provide करने के लिए एक Security Code भी Create करेंगे ताकि कोई और उसे Access न कर कर पाए। इसके अलावा आप जो Website Create कर रहे हैं, उनमें जो Page होंगे उनके URL क्या होंगे मतलब जो URL आप दे रहे हैं, वह URL और SEO User Friendly है अथवा नहीं ये सब Management आप CMS से निश्चित कर सकते है।

CMS कैसे कार्य करता है ?

एक CMS उपयोगकर्ताओं को डैशबोर्ड से सामग्री का प्रबंधन करने की अनुमति देता है। केवल  One Click Install के साथ आज मार्किट में अच्छी संख्या में CMS सॉफ़्टवेयर उपलब्ध हैं। यह गैर-तकनीकी ब्लॉगर के लिए इसका उपयोग करना और नेविगेट करना आसान बनाता है।

एक उदाहरण के लिए CMS के विकास से पहले के समय के ब्लॉग्गिंग साइट के बारे में सोचते है इनमे कार्य करना अत्यधिक जटिल होता था। क्योंकि यहां हमें किसी भी प्रकार के डाटा, इमेज, वीडियो या किसी भी प्रकार के कंटेंट को अपने ब्लॉग में डालने के लिए डेटाबेस में जाना होता था, फिर कोडिंग के जरिए कार्य को पूरा किया जाता था। आज के आधे से ज्यादा ब्लॉगर तो कोडिंग के विषय में कुछ जाने बिना ही CMS के प्रयोग से बड़ी से बड़ी साइट कड़ी कर सकते है।

छोटे स्टार्टअप के लिए अधिकांश  CMS प्रोग्राम ओपन सोर्स और फ्री हैं। इसका मतलब है कि आपको सीएमएस के अन्य घटकों के साथ कुशल होने की आवश्यकता नहीं है, अर्थात् आपको Javascript, HTML  CSS,  PHP और MySQL [Structure Query Language (एसक्यूएल!) इत्यादि सीखने की कोई विशेष आवश्यकता नहीं है। 

CMS के साथ आज एक वेबसाइट का निर्माण हमारे लिए बहुत अधिक आसान है। यह आपको एक कंट्रोल पैनल से सीधे टेक्स्ट लिखने और चित्र और ग्राफिक्स डालने की अनुमति देता है। वेबसाइटों को एक्सेल स्प्रेडशीट के समान डेटाबेस के साथ बनाया गया है। वेब के विकसित होते ही CMS भी लगातार अपडेट होते रहते हैं।

नई सीएमएस वेब बिल्डिंग प्लेटफॉर्म के बहुत सारे विकल्प हैं। पारंपरिक विकल्प वर्डप्रेस है। WordPress, बहुआयामी सुविधाओं, टेम्प्लेट, थीम और प्लगइन्स के साथ खुला स्रोत है और लाइव वेबसाइट को स्थापित करने और बनाने के लिए कोई समय नहीं लेता है। वर्डप्रेस लगभग 75 मिलियन वेबसाइटों द्वारा उपयोग किया जाने वाला सॉफ्टवेयर है। वर्तमान में सभी वेबसाइटों में इसका एक चौथाई से अधिक हिस्सा है।

CMS Components In Hindi

CMS के दो मुख्य अंग होते हैं, जिनके द्वारा यह पूरा प्लेटफार्म काम करता है, CMA और CDA तो चलिए इन्हे समझते हैं।

CMA:- इसका Full Form है, Content Management Application, यह CMS का Front End एडिटिंग कॉम्पोनेन्ट है, यानि User Interface जिसके माध्यम से User वेबसाइट से Interact कर पाता है, और अपनी आवश्यकता अनुसार वेबसाइट के Content को Generate, Modify या Delete कर सकता है।

CDA:- इसका Full Form है, Content Delivery Application, इसका कार्य तैयार Content को वेबसाइट पर Update करना है। CDA एक Publishing टूल है, जब User CMA Interface पर कंटेंट को क्रिएट या मॉडिफाई करता है, या डिलीट करता है, तो CDA का कार्य User द्वारा किए गए Update को वेबसाइट पर पब्लिश करना है, यह Back End पर काम करता है।

CMS सॉफ्टवेयर के उदाहरण

1. WordPress

WordPress आधुनिक समय में CMS की सटीक परिभाषा देता है। दुनियाभर में WordPress को इस्तेमाल करने वाले लोगो की संख्या किसी भी अन्य CMS सॉफ्टवेयर की तुलना में बहुत अधिक है। कुल उपलब्ध CMS Software में यह 35% स्थान को घेरता है इससे आप इसकी लोकप्रियता का अंदाज़ा लगा सकते है।

यह Php और MySql से निर्मित है, हालाँकि बहुत से कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम इन्ही से निर्मित होते है परन्तु WordPress ने इस विषय में दक्षता हासिल कर ली है। यही कारण है कि लोग वर्डप्रेस को अन्य की तुलना में अधिक पसंद करते है। 

वर्डप्रेस (WP, WordPress.Org) एक स्वतंत्र और ओपन-सोर्स CMS है। फीचर्स में एक प्लगइन आर्किटेक्चर और एक टेम्प्लेट सिस्टम शामिल है, जो वर्डप्रेस के भीतर थीम्स के रूप में संदर्भित है।

वर्डप्रेस मूल रूप से एक ब्लॉग-प्रकाशन प्रणाली के रूप में बनाया गया था, लेकिन बाद में यह अन्य पारंपरिक मेलिंग सूचियों और मंचों, मीडिया दीर्घाओं, सदस्यता साइटों, शिक्षण प्रबंधन प्रणालियों (एलएमएस) और ऑनलाइन स्टोर सहित अन्य प्रकार की वेब सामग्री का समर्थन करने के लिए विकसित हुआ।

वर्डप्रेस का उपयोग 60 मिलियन से अधिक वेबसाइटों द्वारा किया जाता है, जिसमें अप्रैल 2019 तक शीर्ष 10 मिलियन वेबसाइटों में से 33.6% शामिल हैं, वर्डप्रेस उपयोग में सबसे लोकप्रिय सामग्री प्रबंधन प्रणाली में से एक है।

कार्य करने के लिए वर्डप्रेस को वेब सर्वर पर स्थापित किया जाना चाहिए, या तो Wordpress.Com जैसी इंटरनेट होस्टिंग सेवा या सॉफ्टवेयर पैकेज Wordpress.Org चलाने वाले कंप्यूटर का हिस्सा होना चाहिए।

वर्डप्रेस में मात्र अपने डैशबोर्ड से आप अपनी सम्पूर्ण वेबसाइट को नियंत्रित कर सकते है। यहां आप अपने वेबसाइट में कंटेंट डाल सकते है जो इमेज, टेक्स्ट, वीडियो इत्यादि के रूप में हो सकता है।

2. Joomla

Joomla वेब सामग्री के प्रकाशन के लिए एक स्वतंत्र और ओपन-सोर्स कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम है, जिसे ओपन सोर्स मैटर्स, इंक द्वारा विकसित किया गया है। यह एक मॉडल-व्यू-कंट्रोलर वेब एप्लीकेशन फ्रेमवर्क पर बनाया गया है, जिसका उपयोग सीएमएस के स्वतंत्र रूप से किया जा सकता है।

जूमला PHP में लिखा गया है, ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग तकनीकों, सॉफ़्टवेयर डिज़ाइन पैटर्न, MySQL, MS SQL या PostgreSQL डेटाबेस में डेटा संग्रहीत करता है, और इस तरह की सुविधाओं को शामिल करता है।

 2019 तक, वर्डप्रेस और ड्रुपल के बाद, यह इंटरनेट पर चौथा सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम होने का अनुमान था।

3. Drupal

Drupal, PHP में लिखा और GNU जनरल पब्लिक लाइसेंस के तहत वितरित एक स्वतंत्र और खुला स्रोत वेब सामग्री प्रबंधन ढांचा है। Drupal दुनिया भर में सभी वेबसाइटों के कम से कम 2.3% – व्यक्तिगत ब्लॉग से लेकर कॉर्पोरेट, राजनीतिक और सरकारी साइटों तक के लिए एक बैक-एंड फ्रेमवर्क प्रदान करता है।

दिसंबर 2019 तक, Drupal समुदाय में 1.39 मिलियन से अधिक सदस्य शामिल थे, जिसमें 1,17,000 उपयोगकर्ता सक्रिय रूप से योगदान दे रहे थे। 

4. Wix

Wix.Com एक इजरायली सॉफ्टवेयर कंपनी है, जो क्लाउड-आधारित वेब विकास सेवाएं प्रदान करती है। यह उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन ड्रैग और ड्रॉप टूल्स के उपयोग के माध्यम से एचटीएमएल वेबसाइट और मोबाइल साइट बनाने की अनुमति देता है।

Types Of CMS In Hindi

CMS Software के तीन मुख्य प्रकार है अगर आप इनके बारे में जानना चाहते है को चलिए बताते है आपको इनके बारे में :

Open Source CMS:

आप बिना किसी Initial Cost के Open Source Software को Download कर सकते है इसके लिए किसी भी License, Upgrade Fees या Contracts की जरूरत नही लेकिन Open Source CMS के साथ आपको इसका भुगतान करना पड़ सकता है जैसे:

  • इसके Installation और Setup के दौरान Technical Help की जरूरत।
  • Core Offering से अलग Software का विस्तार करने के लिए एक Compatible Template, Add-ons And Plugins.
  • कर्मचारियों की Training से लेकर Software को नियमित Update करने सहित Support.

Proprietary CMS:

Proprietary और Commercial CMS Software एक ही कंपनी के द्वारा Develop और Manage किया जाता है। Generally इस तरह के Software का Use Software का Use करने के लिए License खरीदने, Update और Support के लिए Monthly और Yearly Charges देने आदि के लिए किया जाता है।

Software As A Service (SaaS) CMS:

SaaS CMS Solutions में Commonly Single Supplier के साथ Web Content Management Software, Web Hosting और Technical Support शामिल होता है ये Cloud Host में किये गये Virtual Solutions होते हैं।

What Is CMS In PHP In Hindi

दोस्तों जैसा की CMS के नाम से पता चल रहा है की यह एक Content Management System है। CMS Admin यानि मालिक को अपनी वेबसाइट को Manage करने की पूरी सुविधा देता है। वेबसाइट बनने के बाद आप किसी भी Function को Login और Access कर सकते हैं, मतलब आप किसी विशेष Page के Text को बदल सकते हैं, एक E-Commerce Store चला सकते हैं और आप अपनी CMS आधारित Website के Back-End में आने पर किसी भी संख्या में काम कर सकते है इसमें आपको वेबसाइट में Changes करने के लिए अपने Developer पर पूरी तरह से निर्भर होने की जरूरत नही होती है।

जबकि PHP Framework एक User द्वारा लिखित पूर्व निर्धारित सेट के अंदर एक Custom Code है। यह Developers को Primary Programming Language के रूप में PHP के साथ, मुख्य Library कार्यों का Use करके Modules और Application को Develop करने की अनुमति देता है। Framework के वास्तविक Users ही इसके Technical Users है क्योंकि एक Non-technical User Website की Programming Language और कार्यों में खो जायेगा।

मुझे आशा है की आपको लोगो को समझ आगया होगा की  CMS Kya Hai? , दोस्तों अगर आपको मेरा ये Article अच्छा लगा हो तो Share जरूर करे | 

Thanks for reading

 

 

 

Be the first to comment on "CMS Kya Hai? CMS कैसे काम करता है"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*