Email And Gmail Differences In Hindi

Email And Gmail Differences In Hindi ; gmail and email difference in ;hindi ;email id ;gmail login ;जीमेल क्या है in hindi ;email and gmail difference ;gmail account ;मेरी जीमेल क्या है ;ईमेल आईडी कैसे बनाएं

Email And Gmail Differences In Hindi : Hello दोस्तों स्वागत है आपका technicalbandu.com के इस नए पोस्ट मैं जिसमें आप जानेंगे की Email And Gmail Differences InHindi और यह कैसे काम करता है इस पोस्ट को पढ़कर आपको कही और जाने की जरूरत नही है क्योंकि आज मैं आपको Email And Gmail Differences In Hindi से Related सब Points Clear करूंगा

गूगल की कई सेवाओं का रोजाना उपयोग करते हैं। फिर चाहे वो गूगल मैप हो, जीमेल हो या कुछ और। इन सब के बीच कभी आपके भीतर भी ये सवाल जरूर उठा होगा कि जीमेल और ईमेल में फर्क क्या होता है? हम अक्सर इन दोनों को लेकर काफी कंफ्यूज रहते हैं। ऐसे में आज हम इसी के बारे में बात करने वाले हैं कि जीमेल और ईमेल में क्या अंतर होता है? हालांकि एक समय हुआ करता था जब किसी दूसरे व्यक्ति तक संदेश पहुंचाने में कई दिन बीत जाते थे। बीते कुछ दशक में ऐसे कई डिजिटल प्लेटफॉर्म्स उभर कर सामने आएं, जिन्होंने सूचना क्षेत्र को ही बदल के रख दिया है। इसी वजह से आज का आधुनिक दौर सूचना क्रांति का दौर है। अब तो कई बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स आ चुके हैं, जो पल भर में आपके द्वारा भेजी गई सूचना किसी और तक पहुंचा देते हैं। इसी सिलसिले में आइए जानते हैं कि जीमेल और ईमेल के बीच में क्या अंतर होता है? Email And Gmail Differences In Hindi

Email क्या है (What is Email In Hindi)

आपको बता दे कि Email की फुल फॉर्म इलेक्ट्रोनिक मेल (Electronic Mail) होती है यानी कोई भी खत या लैटर जिसे इलक्ट्रोनिक माध्यम से भेजा या मंगाया जाता है इसे हम इलेक्ट्रोनिक मेल या ईमेल कहते है इस प्रक्रिया में पूरा काम इन्टरनेट के जरिये होता है. पहले ईमेल भेजने के लिए याहू मेल का काफी प्रयोग किया जाता था लेकिन जब से गूगल का प्रोडक्ट गूगल मेल आया है तब से याहू की मेल प्रक्रिया में काफी गिरावट आयी है और वहीं अब ज्यादातर लोग गूगल का प्रोडक्ट जीमेल का प्रयोग कर रहे हैं.

ईमेल भेजने के लिए जीमेल, याहू मेल, हॉटमेल का प्रयोग किया जाता है यहां हॉटमेल माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की ईमेल प्रक्रिया है यानी सभी दिग्गज कंपनियों ने ईमेल भेजने के लिए अपनी अपनी ईमेल प्रक्रिया शुरू की हुई हैं. Email And Gmail Differences In Hindi

Email Id का अविस्कार किसने कीया ?

ईमेल आइडी का अविस्कार साल 1978 मे Vellayappa Ayyadurai Shiva ने कीया जिन्हे फादर ऑफ ईमेल भी कहा जाता है.

जिन्होंने एक कंप्युटर सॉफ्टवेयर तयार कीया यह जिसे ईमेल कहा गया जिसमे inbox ,outbox ,folder, memo आदि जैसे फीचर मौजूद थे और ये सब आज के ईमेल का एक जरूरी फीचर माना जाता है.अमेरिका सरकार से 30 अगस्त 1982 को इन्हे ईमेल की खोज करने वाले की मान्यता प्राप्त हुई.इहोने मात्र 14 साल मे उम्र मे ही ईमेल का अविस्कार कीया था.इनका जन्म December 2, 1963 (age 57) Bombay,भारत जिसे अभी के समय मे मुंबई कहा जाता है मे हुआ.

Click Here  : Buy Best Web Hosting 

Email service Providers के नाम

हम आपको कुछ लोकप्रिय फ्री ईमेल प्रोवाइडर के नाम बताते है.

  1. Gmail
  2. AOL
  3. Outlook
  4. Zoho Mail.
  5. com.
  6. Yahoo! Mail.
  7. ProtonMail
  8. Yandex

Email कैसे लिखे (How to write Email in Hindi)

आपने ईमेल क्या होता है जाना तो आप किसी ना किसी को ईमेल जरूर भेजेंगे पर आपको पता नहीं की ईमेल कैसे लिखते है तो आईए जाने ईमेल कैसे लिखे. किसी को भी ईमेल भजने से पहले या ईमेल लिखने के लिए आपको सामने वाले की ईमेल आइडी जरूर पता होनी चाहिए जिसे आप ईमेल भेजना चाहते है.

  • From:इसमे आपको अपना ईमेल लिखना है.
  • To:इसमे तो जिसको संदेश भेजना चाहते है उसका ईमेल आइडी लिखेंगे.
  • Cc:इसका पूरा मतलब होता है Carbon copy होता है.यदि आप इसी संदेश को एक ही समय मे किसी दूसरे को भी भेजना चाहते है तो आप दूसरे वाले रिसीवर का ईमेल आइडी इसमे भरेंगे.
  • Bcc:Bcc का पूरा नाम है blind carbon copy अगर आप चाहते है की आपके रिसीवर को यह ना पता लगे की यह संदेश उनके अलावा भी किसी को भेजा गया है तो उनदोनों मे एक एक ईमेल आइडी इसमे भरे.
  • Subject :आप यह संदेश किस बारे में लिख रहे है यहाँ भरे.
  • खली जगह:यहां अपना पूरा सन्देश लिखे लिखे.
  • Send:यह क्लिक करते ही आपका ईमेल सामने वाले के पास पहुंच जाएगा.
  • Discard:यदि आप लिखे गए संदेश को भेजना नहीं चाहते तो यहां क्लीक करे.

E-Mail address कब Valid होती है?

यदि आप किसी को भी ईमेल भेजना चाहते है और उसके लिए सबसे पहले आपका ईमेल आइडी होना बहुत ही जरूरी है क्यू की वह ईमेल आइडी आपका डिजिटल पहचान के रूप मे माना जाता है.

  • ईमेल आइडी तब सही माना जाता है जब यूजर नेम के आगे (@) का साइन हो और इसके आगे डोमैल नाम तथा domain suffix होना अनिवार्य है.
  • वही आपका यूजर नाम 64 characters तक ही अधिकतम होना चाहिए वही डोमेन नाम 254 से ज्यादा नहीं होना चाहिए इस बात का ध्यान जरूर रखे.
  • वही किसी भी ईमेल मे space और special characters: ( ) , : ; <, >, \, [, ] को allow करता है.
  • किसी भी ईमेल मे consecutive periods दो से ज्यादा नहीं रखे.

Alternate Email क्या है

यह सवाल अक्सर हमारे दिमाग मे जरूर आता है होगा की आखिर मे यह Alternate Email क्या है और इसका क्या महत्व है तो मई आपको बता दु की आप जब किसी Online फॉर्म को भरते है. तो किसी किसी फॉर्म मे आपसे Alternate Email भरने को कहा जाता है इसका मतलब यह होता है किस यदि आपके पास अपने मेन ईमेल आइडी के अलावे भी कोई दूसरा आइडी है तो उसे डाल सकते ताकि कोई जरूरी सूचना दूसरे तक भी भेजा जा सकते.

Email Ka Full Form क्या होता है ?

email ka full form होता है Electronic Mail जिसे शार्ट में “E-Mail” कहा जाता है।

इसे हम अलग-अलग प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे स्मार्टफोन, टैबलैट, कंप्यूटर, लैपटॉप के द्वारा भेज सकते हैं। ऊपर बताइ हुइ कुछ मुख्य वेब मेल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी में आप अपना ईमेल आईडी बना सकते हैं। आईडी बनाने के बाद जिस प्रकार से सामान्य चिट्ठी लिखकर उस संदेश को पोस्ट ऑफिस के जरिए एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाते हैं, बस उसी प्रकार ही ईमेल में लिखे हुए संदेश को हम ऑनलाइन इंटरनेट के द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान पहुंचा सकते हैं। Email And Gmail Differences In Hindi

Gmail क्या है (What is Gmail in Hindi)

अब आपको पता चल गया होगा कि Email क्या है वहीं जीमेल की बात करे तो यह गूगल का ही एक प्रोडक्ट है जिसका पूरा नाम गूगल मेल होता है गूगल की ईमेल प्रक्रिया बिल्कुल मुफ्त है वैसे तो सभी कंपनी की ईमेल सुविधा फ्री है लेकिन फिर भी ज्यादातर लोग जीमेल से का प्रयोग करते है क्योंकि इसमें ईमेल भेजना काफी आसान काम होता है इसमें ईमेल भेजना किसी को मेसेज भेजना जितना सरल काम होता है. जब गूगल ने जीमेल को बनाया तो आरंभिक समय में इसका प्रयोग केवल गूगल के अधिकारी ही कर सकते थे लेकिन 1 अप्रैल 2004 को गूगल ने जनता के लिए जीमेल की घोषणा कर दी थी और तभी से जीमेल को आम लोग भी इस्तेमाल करने लगे हैं. Email And Gmail Differences In Hindi

Gmail Full Form – Gmail Ka Full Form क्या होता है।

gmail ka full form होता है “Google Mail” जिसे शॉर्ट में “G-Mail” कहा जाता है।

अगर आपने Hotmail का नाम सुना होगा तो तो शायद आप जानते होंगे कि यह माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का प्रोडक्ट है उसी तरह gmail भी गूगल का एक प्रोडक्ट है। जीमेल के शुरुआती दौर में इसका यूज सिर्फ गूगल के अफसर ही कर सकते थे लेकिन कुछ समय के बाद यानी 1 अप्रैल 2004 को गूगल ने जीमेल को आम लोगों के लिए इसे यूज करने का निर्णय कर दिया था। और तभी से लेकर आज तक सभी लोग G-Mail का यूज करने लगे हैं। यहां पर हम आपको बता दें कि पूरे विश्व में G-Mail के उपयोगकर्ता सबसे अधिक है। तो अब आप समझ गए होंगे कि gmail kya hota hai

Email और Gmail में अंतर क्या है

आज भी बहुत से लोग ऐसे है जिन्हें ईमेल और जीमेल के बीच कन्फ्यूजन है इन्हें Email और Gmail में Difference पता नहीं होता है. अगर आपको भी इनके बीच कोई कन्फ्यूजन है तो आज हम आपको इन दोनों की पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे जिससे आपका इन दोनों के बीच का कंफ्यूजन दूर हो जाए और आप भी किसी को इनके बीच अंतर बता सके.ईमेल और जीमेल में अंतर समझने के लिए सबसे पहले आपको ईमेल और जीमेल में बारे में जानना पड़ेगा जब आप Gmail क्या होता है और Email क्या होता है इनके बारे में जान जायेंगे तो आपको इन दोनों के बीच अंतर भी पता चल जायेगा. तो चलिए जानते है इन दोनों में क्या अंतर है. Email And Gmail Differences In Hindi

Gmail का इतिहास क्या है ? (History Of Gmail In Hindi)

  • Paul Buchheit ने अपने कॉलेज के दौरान Personal Email Project के लिए काम करना शुरू कर दिया था।
  • 1990 के दशक में उन्होंने अपने Email को बाजार में लाने की सभी तकनीकों पर अध्ययन कर लिया था।
  • 1 अप्रैल 2004 को, Google द्वारा Gmail के Limited Beta Version की घोषणा की गई थी।
  • 13 मई 2013 को स्टोरेज क्षमता को बढ़ाकर 15GB कर दिया गया।
  • मार्च 2014 में Encrypted HTTP कनेक्शन की घोषणा Google के द्वारा की गई।
  • कनेक्शन का उपयोग जीमेल के मेल भेजने और प्राप्त करने के लिए किया गया था।
  • Gmail में प्रत्येक संदेश 100% Encrypted था।
  • आने वाले संदेशों को जीमेल द्वारा वायरस के लिए स्वचालित रूप से स्कैन किया जाता है।
  • जुलाई 2017 को, Google ने मशीन लर्निंग का उपयोग करके स्पैम और फ़िशिंग वाले ईमेल की पहचान करने की घोषणा की, जिसके परिणामस्वरूप 99.9% सटीकता प्राप्त हुई।
    साथ में यह भी घोषणा की गई कि अब Gmail किसी Mail को भेजने में 0.05 Second समय की देरी मात्र लेता है।

Conclusion

इस लेख में email and gmail difference in hindi में समझाया है तो यह लेख आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट के जरिए जरूर बताइएगा आपके विचार हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। और अगर gmail or email difference in hindi का यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को gmail and email difference in hindi में जानकारी मिल सके।

Final Words

मैंने इस पोस्ट में बताया की Email और Gmail में क्या अंतर है (What is difference between Email and Gmail in Hindi) मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको बहुत पसंद आया होगा| इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें| यदि इस पोस्ट से related आपका कोई भी सवाल हो तो आप बेझिझक Comment box के द्वारा पुँछ सकते हैं मैं आपके सवालों के जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करूँगा|

यदि आप हमारे ब्लॉग पर कोई Post Publish करना चाहते हैं तो आप हमसे Contact कर सकते हैं या आप अपना Post हमें mail कर सकते हैं यदि आपका पोस्ट हमें पसंद आएगा तो हम आपके पोस्ट को आपके नाम के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे| Email And Gmail Differences In Hindi

मुझे आशा है की आप लोगो को समझ आगया होगा की , दोस्तों अगर आपको मेरा ये Article अच्छा लगा हो तो Share जरूर करे | 

Thanks for reading

Be the first to comment on "Email And Gmail Differences In Hindi"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*