ITR क्या है? और इसमें Registration कैसे करे? और यह कितने प्रकार के होते है?

itr kya hai; what is itr; itr kya hota hai; itr kya hai in hindi; itr in hindi;

ITR Kya Hai :– दोस्तों आज में आपको बताने वाला हूँ की ITR क्या है? और इसमें Registration कैसे करे? और यह कितने प्रकार के होते है? तो आज हम आपको इस आर्टिकल में ITR के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है तो आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े। तो चलिय दोस्तों शुरू करते है की ITR Kya Hai?

ITR क्या है? – What is ITR in Hindi?

ITR क्या है? – (Income Tax Returen ): आयकर रिटर्न  (ITR ) एक ऐसा फॉर्म  है  जिसका इस्तेमाल आयकर विभाग में आयकर लगाने के लिए किया जाता है।  कर रिटर्न पूर्वनिर्धारित  प्रारूप में होता है जहां Income Tax  की गणना करने के लिए  इस्तेमाल किए गए  आंकड़े के अनुसार खुद आयकर दाता  दवारा  दस्तावेजों में लिखा जाते  है।

How To Types For  ITR ?

  • ITR -1
  • ITR -2
  • ITR -3
  • ITR -4
  • ITR -5
  • ITR -6
  • ITR -7

आयकर रिटर्न फॉर्म  मुल्यांकनकर्ता की आय  के सोता और निर्धारिती की श्रेणी के मानदंडों के आधार पर ध्यान भिनन होते हैं। आयकर अधिनियम, 1961 और 1962, के  अनुसार नागरिकों को आयकर विभाग दाखिल करने के लिए   बाथ्य करता है इन रिटर्न नियत तारीख के पहले दाखिल किया जाना चाहिए, जो कि साल के दौरान, चाय मजदूरी, ब्याज, पूछी लव या अन्य मुनाफे के माध्यम से आए प्राप्त हुई हो।

आयकर रिटर्न भरना क्यों जरूरी है

  • किसी वीजा के लिए आवेदन करने के समय रिटर्न फाइलिंग का प्रमाण भी आवश्यक होता है
  • किसी करके को लेने के लिए आवेदन करते समय रिटर्न फाइलिंग का प्रमाण आवश्यक होता है
  • जब आप किसी धार्मिक उद्देश्यों या किसी अनुसंधान सघन या  समाचार एजेंसी राजनीतिक दल, शक्षिक या  चिकित्सा  संस्थान ट्रेंड यूनियन के लिए  Tax के तहत  रखी गई सपतित से  प्राप्त, आय प्राप्त  होने  पर  आपको आयकर  रिटर्न दाखिल करने की आवशयकता है। ITR Kya Hai?



आयकर रिटर्न भरने के फायदे

  • किसी भी कर कटौती का दावा करने के लिए आइटीआर की आवश्यकता है
  • आप आसानी से स्वीकृत क्षण प्राप्त कर सकते हैं
  • आपको किसी भी कर रिफंड का दवा करने के लिए आइटीआर की आवश्यकता होगी
  • यदि आप मार्केट में निवेश कर रहे हैं और बेच रहे हैं या शहर खरीद रहे हैं तो आयकर रिटर्न भरना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है
  • व्यावसायिक सगठनो के लिए पात्र बनाने के लिए आयकर रिटर्न आवश्यकता है

दोस्तोंइनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने के तीन तरीके हैं।

  • ऑफलाइन- जावा या एक्सेल फॉर्मेट में एप्लिकेबल आईटीआर फॉर्म डाउनलोड कर उसे ऑफलाइन भरें. एक्सएमएल जेनेरेट कर उसे ई-फाइलिंग पोर्टल पर लॉग इन करके अपलोड करें।
  • ऑनलाइन- ई-फाइलिंग पोर्टल पर लॉग इन कर ऑनलाइन रिटर्न तैयार कर सबमिट कर दें।
  • टैक्स रिटर्न फाइलिंग सॉफ्टवेयर के जरिए।

Read Also:- GST क्या है?



How to Registration e-Filing of ITR ?

दोस्तों ,अगर आप अपना आईटीआर ऑफलाइन फाइल करना चाहते हैं तो ये स्टेप अपनाएं.

  • इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाएं https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/
  • आईटी रिटर्न प्रिपरेशन सॉफ्टवेयर पर क्लिक करें और उसके बाद मेन्यू में जाकर डाउनलोड पर क्लिक करना है. अपना असेसमेंट ईयर चुनें और एप्लिकेबल आईटीआर अपनी सुविधानुसार जावा या एक्सेल फॉर्मेट में डाउनलोड करें.
  • आईटीआर फॉर्म को भरें. (अगर आप अधिक समय नहीं लगाना चाहते हैं तो प्री-फिल्ड एक्सएमएल भी डाउनलोड कर सकते हैं जिसमें कई जानकारियां पहले से भरी होंगी. इसके लिए ई-फाइलिंग पोर्टल में लॉग इन कर माय अकाउंट मेन्यू के तहत डाउनलोड प्री-फिल्ड एक्सएमएल पर क्लिक कर डाउनलोड कर लें.)
  • आईटीआर फॉर्म में भरी गई सभी जानकारी को वैलिडेट करें और टैक्स की गणना करें.
  • एक्सएमएल को जेनेरेट कर सेव करें.
  • ई-फाइलिंग पोर्टल में लॉग इन करें और ई-फाइल मेन्यू के तहत इनकम टैक्स रिटर्न को सेलेक्ट करें.
  • पैन उसमें पहले से भरा आएगा. अपना एसेसमेंट इयर, आईटीआर फॉर्म नंबर, फाइलिंग टाइप (ओरिजिनल या रिवाइज्ड रिटर्न) और सबमिशन मोड (अपलोड एक्सएमएल) चुनेंअपने आईटीआर को वेरिफाई करने के लिए नीचे लिखे किसी भी ऑप्शन को सेलेक्ट करें.
  • डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट (डीएससी)
  • आधार ओटीपी
  • माय अकाउंट के तहत जेनेरेट ईवीसी विकल्प के जरिए पहले से ही Generate किया हुआ ईवीसी.
  • I would like to e-verify later. Please remind me. (इसमें यह है कि आप बाद में आईटीआर को प्रमाणित करना चाहते हैं और सिस्टम से कह रहे हैं कि वह आपको ध्यान दिला दे.)
  • I don’t want to e-verify this Income Tax Return and would like to send signed ITR-V through normal or speed post to “Centralized Processing Center, Income Tax Department, Bengaluru-560 500” (इसमें यह है कि आप आईटीआर को ऑनलाइन नहीं वेरिफाई करना चाहते हैं और नॉर्मल या स्पीड पोस्ट के जरिए बेंगलूरु स्थित इनकम टैक्स डिपॉर्टमेंट आईटीआर-5 की हस्ताक्षरित कॉपी भेजना चाहते हैं.)
  • इनमें से किसी भी ऑप्शन को सेलेक्ट कर Continue पर क्लिक करें.
  • अपनी आईटीआर एक्सएमएल फाइल को अटैच कर सबमिट पर क्लिक करें.
  • अगर आपने आठवें स्टेप में डीएससी का विकल्प सेलेक्ट किया था तो अपना डिजिटल सिग्नेचर अटैच करिए. आधार ओटीपी सेलेक्ट किया था को अपने आधार नियामक के पास रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को भरिए. अगर ईवीसी को चुना था तो रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ईवीसी भरिए. अगर आपने e-verify letter को चुना था को आईटीआर आपका सबमिट तो हो चुका है लेकिन अभी यह वेरिफाई नहीं हुआ है. अगर आपने “I don’t want to e-verify” चुना है तो या तो आप माय अकाउंट मेन्यू में जाकर ई-वेरिफाई रिटर्न पर क्लिक करें और ई-वेरिफाई कर दें, या तो आप उसे हस्ताक्षर करके बेंगलूरु भेज दें.
  • आईटीआर को सबमिट कर दें.




निष्कर्ष मुझे आशा है की यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा , हमे आशा है की इस आर्टिकल में आपको पूरी जानकारी मिली होगी की जेएसटी क्या है और इसका पंजीकरण कैसे कराये , अगर आपको और जानकारी जेएसटी पंजीकरण के संदर्ब में तो आप हमारी वेबसाइट पर पधारे अधिक जानकारी के लिए , हम आपकी सहायता के लिए  हमेशा मौजूद रहते है | ITR Kya Hai?

यदि अभी भी आपके मन में इसको लेकर कोई भी Doubts हैं, या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होना चाहिए। तो इसके लिए आप नीचे Comments कर सकते हैं| आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा| यदि आपको मेरा यह Article अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो,  तो अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस Article  को Social Network जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter etc पर share कीजिये|

“ITR क्या है? और इसमें Registration कैसे करे? और यह कितने प्रकार के होते है? ”  को Article first to last पड़ने  लिए Thanks you”

Be the first to comment on "ITR क्या है? और इसमें Registration कैसे करे? और यह कितने प्रकार के होते है?"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*