MBA Kya Hai? | MBA Course Details in Hindi

mba ki fees kitni hai ;mba full form in hindi ;mba kitne saal ka hota hai ;mba me kitne subject hote hai ;एमबीए की सैलरी ;एमबीए करने में कितना पैसा लगता है ;गवर्नमेंट कॉलेज में एमबीए की फीस कितनी है ;एमबीए करने के फायदे

MBA Kya Hai? | MBA Course Details in Hindi : नमस्कार दोस्तों आज हम इस Post में MBA Kya Hai, MBA Kaise Kare यह जानेंगे साथ में आपको यह भी बताया जायेगा की MBA Full Form, MBA में करियर कैसे बनाये, MBA करने से क्या फायदा होगा, MBA कौन कर सकता है आदि जैसे सवाल जो हर कोई जानना चाहता है. तो आपके सभी सवालों का जवाब हम इस article मे आपको देंगे MBA Kya Hai

MBA Kya Hai?

MBA का फुल फॉर्म ‘मैनेजमेंट ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन’ होता है। यह 2 साल का एक पोस्टग्रेजुएट कोर्स है, जिसमें आपको मैनेजमेंट और मार्केटिंग के बारे में सिखाया जाता है। MBA में प्रवेश पाने के लिए आपके ग्रेजुएशन में न्यूनतम 50% होना आवश्यक है। MBA Kya Hai

यह भारत और विदेशों में सबसे लोकप्रिय पोस्टग्रेजुएट कार्यक्रमों में से एक है। यह पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम कॉर्पोरेट दुनिया में मुख्य रूप से प्रबंधकीय स्तर पर नौकरी के बहुत से अवसर प्रदान करता है। साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स, मैथ्स आदि सभी स्ट्रीम्स के छात्र इसमें आगे अपना करियर बना सकते है। हालाँकि MBA कोर्स BBA (बेचलर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन) के बाद किया जाने वाला सबसे लोकप्रिय कोर्स है। MBA Kya Hai

एक रेगुलर एमबीए आमतौर पर दो साल का कोर्स होता है, जिसे 4 सेमेस्टर में विभाजित किया जाता है। हालांकि, कुछ निजी संस्थान है जो एक साल के PGDM (पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन मैनेजमेंट) प्रोग्राम भी प्रदान करते है। छात्र रेगुलर, ऑनलाइन और दूरस्थ शिक्षा (Distance Education) सहित विभिन्न तरीकों से एमबीए कर सकते है। MBA Kya Hai?

BAMS Course Kya Hota Hai In Hindi

BBA Kya Hai? | BBA Course Details in Hindi

BCA क्या है? कैसे और कब करें?

एमबीए का फुल फॉर्म – Full Form of MBA in Hindi 

Master of Business Administration

एमबीए की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हर स्ट्रीम के छात्र चाहे वह इंजीनियरिंग करते हो या फिर वह स्नातक पढ़ते हो या फिर वह कॉमर्स पढ़ते हो हर किसी का एक ख्वाब होता है कि वह पढ़ाई करने के बाद एमबीए का कोर्स जरूर करें और किसी बड़ी कंपनी के मैनेजमेंट डिपार्टमेंट में जाकर काम करें. भारत जैसे देश में अगर किसी को वाइट कलर Job मिले तो इससे खुश मत किस्मत की बात और क्या हो सकती है यही वजह है कि अधिकतर छात्र जो मिडल क्लास फैमिली से बिलॉन्ग करते हैं जो वह पढ़ाई करते हैं और अपना ग्रेजुएशन पूरा कर लेते हैं तो उनकी दिली ख्वाहिश होती है कि काश वह भी एमबीए का कोर्स कर पाते और अगर वह इस योग्य होते हैं और उनके पास इतने पैसे होते हैं कि वह  इस कोर्स को कर सके तो जरूर करते हैं. MBA Kya Hai

MBA Course Details in hindi

एमबीए कोर्स का पूरा नाम Master of Business Adminstration है। ये 2 साल का कोर्स होता है। MBA Course के माध्यम से स्टूडेंट को मैनेजमेंट के गुरु सिखाये जाते हैं और साथ ही किसी एक सब्जेक्ट में एक्सपर्ट बनाय जाता है। MBA Course के पहले साल में मैनेजमेंट के तमाम सब्जेक्ट पढ़ाये जाते हैं। इसके बाद दूसरे साल में किसी एक बिषय में स्पेशलाइजेशन कराया जाता है। MBA Kya Hai

MBA me Career बनाने के लिए आप जिस भी ब्रांच में जाना चाहते हैं, उस ब्रांच से MBA course करना होगा। मान लो अगर आपको मार्केटिंग के फील्ड में जाना है, तो आप MBA in Marketing करें। इसी तरह यदि आपको फाइनेंस के सेक्टर में जाना है, तो MBA in Finance करें। इस प्रकार आपकी जिस सब्जेक्ट में रुचि है, आप उसमे MBA कर सकते हैं। MBA Course me Career के लिए आप किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट हों। इसमे प्रवेश एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से मिलता है। हालांकि आज के समय मे अनेक प्राइवेट कॉलेज खुल गए हैं, जोकि डायरेक्ट एडमिशन दे देते हैं। लेकिन इनकीं कोई खास विश्वासनीयता नही होती है। इसलिए किसी अच्छे कॉलेज से ही MBA Course करना चाहिए। MBA Kya Hai?

MBA Ke Liye Qualification

एमबीए करने के लिए योग्यता या पात्रता मानदंड प्रत्येक कॉलेज में थोड़े बहुत भिन्न हो सकते है परन्तु आगे बताए गए MBA Karne Ke Liye Qualification लगभग एक समान ही है।

  • छात्र का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन होना चाहिए।
  • विद्यार्थी के बेचलर डिग्री में न्यूनतम स्कोर 50% होना अनिवार्य है, जबकि आरक्षित श्रेणी के छात्रों के लिए अंक में न्यूनतम स्कोर 45% है।
  • अंतिम वर्ष के ग्रेजुएट उम्मीदवार भी MBA कोर्स के लिए आवेदन करने के लिए

MBA के लिए भारत में टॉप कॉलेजेस

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट (IIM) को मिलाकर भारत में बहुत से सर्वश्रेष्ठ कॉलेजेस है जहाँ से आप MBA की पढ़ाई कर सकते है जिनमें से कुछ Top Colleges की लिस्ट आपको आगे दी गयी है:

  • IIM अहमदाबाद: भारतीय प्रबंधन संस्थान
  • IIFT नई दिल्ली: भारतीय विदेश व्यापार संस्थान
  • IIM कलकत्ता: भारतीय प्रबंधन संस्थान
  • ISB हैदराबाद: इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस
  • IIM बैंगलोर: भारतीय प्रबंधन संस्थान
  • SPJIMR मुंबई: एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च
  • XLRI जमशेदपुर: जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट
  • IIM इंदौर: भारतीय प्रबंधन संस्थान
  • FMS नई दिल्ली फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज
  • IIM लखनऊ: भारतीय प्रबंधन संस्थान
  • MDI गुड़गांव: प्रबंधन विकास संस्थान
  • IIM कोझीकोड: भारतीय प्रबंधन संस्थान

MBA Ki Fees Kitni Hai

एमबीए कोर्स की फीस प्रत्येक कॉलेजेस में अलग-अलग होती है। यह मुख्य रूप से आप किस कॉलेज में पढ़ रहे है तथा किस कोर्स को करना चाहते है इस पर निर्भर होती है। एक उम्मीदवार द्वारा चुने गए टॉप कॉलेज के आधार पर एमबीए कोर्स के लिए औसत शुल्क 2 से 20 लाख रूपये तक होता है। यदि आप भारत के टॉप IIM (इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट) इंस्टिट्यूट जैसे- रोहतक, नागपुर, जम्मू, अमृतसर से MBA Course करते है तो उनकी फीस लगभग 10-15 लाख रूपये है। MBA Kya Hai?

Click Here  : Buy Best Web Hosting 

एमबीए कितने प्रकार का होता है?

भारत में मुख्यता 6 प्रकार के एमबीए के कोर्स उपलब्ध हैं।

इन सभी कोर्सेज में मैनेजमेंट की पढ़ाई होती है, लेकिन सबका सिलेबस एक दूसरे से थोड़ा अलग होता है।

एमबीए कोर्सेज के नाम इस प्रकार से हैं –

  • Full-time MBA
  • Distance MBA
  • One-year Full time MBA
  • One-year Part time MBA(Executive MBA)
  • Online MBA
  • MBA integrated course

आइए अब एक-एक करके इनके बारे मे जानते हैं –

  • Full-time MBA

Full-time MBA दो वर्ष का डिग्री कोर्स होता है। इस पढ़ाई को करने के लिए आपको रोज़(regular) कॉलेज जाना होता है।

  • Distance MBA

जो लोग काम की वजह से रोज़ क्लास करने नहीं जा सकते, उनके लिए Distance एमबीए होता है।

यह कोर्स 2 साल का होता है जो Post graduation की डिग्री देता है।

  • One-year Full time MBA

जैसा कि नाम से ही पता चल रहा, यह कोर्स लगभग 1 साल का होता है। इस कोर्स को करने के लिए भी आपके पास कुछ सालों का work experience होना चाहिए।

  • Executive MBA(EMBA)/ One year Part time MBA

EMBA 12 से 15 महीने का कोर्स होता है।

यह विशेषकर ऐसे व्यक्तियों को ध्यान में रखकर बनाया गया है जिनकी रुचि बिजनेस में हो और जिनके पास work experience हो।

इसमें क्लास की टाइमिंग छुट्टियों के दिन या सप्ताह के अंतिम दिन होती है ताकि विद्यार्थी समय पर क्लास कर सके।

  • Online MBA

Online MBA का कोर्स अलग-अलग वेबसाइट पर 1 से 4 साल के बीच का होता है। इसमें पूरी पढ़ाई घर बैठे ऑनलाइन होती है।

इस कोर्स के दौरान विद्यार्थी को recorded videos और online classes के जरिए एमबीए की जानकारी दी जाती है।

  • MBA integrated course

यह 5 साल का एमबीए का कोर्स है। इसे 12th के बाद किया जाता है।

इसमें BBA और MBA दोनों की जानकारी एक साथ दी जाती है।

MBA का Syllabus क्या होता है ?

एमबीए कोर्स में कुल 4 सेमेस्टर की पढ़ाई होती है। यानि 1 साल में 2 सेमेस्टर होते हैं। प्रत्येक सेमेस्टर के अंत में परीक्षा होती है। MBA के शुरुआती 3 सेमेस्टर में पढ़ाई होती है और चौथे सेमेस्टर में विद्यार्थी को इंटर्नशिप प्रोजेक्ट्स दिए जाते हैं जिसे पूरा करने के लिए बड़ी कम्पनियों में काम करना होता है।

MBA 1st Semester subjects

  • Corporate Social Responsibility
  • Microeconomics
  • Principles of Marketing Management
  • Principles of Accounting
  • Tools and Framework of Decision Making
  • Quantitative Methods and Statistics
  • Business Communication and Soft Skills
  • Organizational Behaviour 1

MBA 2nd Semester subjects

  • Macroeconomics
  • Business Law
  • Operations Management
  • Optimization and Project Research
  • Corporate Finance
  • Project Management
  • Marketing Management
  • Organizational Behavior 2

MBA 3rd Semester subjects

  • Supply Chain Management
  • Financial Modeling
  • Strategic Management
  • Business Intelligence
  • Marketing Research
  • Managerial Economics
  • Corporate Governance and Business Ethics
  • Corporate Finance 2

MBA 4th Semester

4th Semester में कोई special subjects नहीं होते हैं। इसमें इंटर्नशिप से जुड़े projects करने होते हैं।

MBA Specialization:

MBA के पहले साल में आपको बिज़नेस की बेसिक जानकारी दी जाती है MBA के दुसरे साल में आपको किसी एक फील्ड में Specialization करना होता है. Specialization करने से आपको उस फील्ड की अच्छी समझ हो जाती है और आगे भविष्य में आपको जॉब उसी के आधार पर मिलती है. इसलिए यह जरुरी है की आप किसी अच्छे Specialization में जाये जिसकी मार्किट में डिमांड भी ज्यादा हो. आप जिस भी Specialization को चुने उसमे आपकी रूचि होनी चाहिए तभी आप बेहतर कर सकते हो. आपके जानकारी के लिए कुछ पोपुलर Specialization के नाम इस प्रकार है. MBA Kya Hai?

  • Marketing:आजकल हर कंपनी को मार्केटिंग की जरुरत तो पड़ती है ताकि उनके साथ ज्यादा से ज्यादा नए ग्राहक जुड़े. यह स्पेशलाइजेशन उनके लिए है जो मार्केटिंग को समझना चाहते है और सीखना चाहते है.
  • Finance:फाइनेंस को सिखने के लिए इस स्पेशलाइजेशन में जा सकते हो. इसे सिखने के बाद कोई व्यक्ति इन्वेस्टमेंट बैंकिंग, इंस्टीट्यूशनल फाइनेंस, मर्चेंट बैंकिंग, कॉर्पोरेट फाइनेंस और इंटरनेशनल फाइनेंस के फील्ड में जा सकता है.
  • International Business:अगर कोई कंपनी अपने व्यापर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाना चाहती है तो उसे ऐसे व्यक्ति की तलाश होगी जिसे इंटरनेशनल बिज़नेस की अच्छी समझ हो जो की इस स्पेशलाइजेशन में सिखाया जाता है.
  • Entrepreneurship:किसी भी Start Up को चलाने के लिए Entrepreneur की जरुरत पड़ती है तो इस स्पेशलाइजेशन में आपको इंटरप्रेन्योर की पूरी समझ मिलती है.
  • Operations Management:किसी भी बिज़नेस को सुचारू रूप से चलाने के लिए Planning, Organizing, Controlling और Supervising की जरुरत पड़ती है जो इस स्पेशलाइजेशन में आपको सिखाया जाता है. यह उनके लिए ज्यादा बेहतर है जो इंजीनियरिंग बैकग्राउंड से संबंध रखते है.
  • Health Care Management:नाम से ही पता चल रहा की सेहत से जुड़े जितने भी डिपार्टमेंट और हॉस्पिटल है उनकी मैनेजमेंट कैसे करनी है वह इस स्पेशलाइजेशन में सिखाया जाता है. अगर कोई हेल्थ सेक्टर में जाना चाहता है लेकिन उन्हें मरीज की देखभाल करने से कुछ अलग करना है तो हेल्थ केयर मैनेजमेंट कर सकते है.

MBA Career Options

  • Management
  • Marketing
  • Human Resources
  • Finance
  • Accounting
  • Sales
  • Healthcare

MBA के फायदे

  • पैसो की जरुरत हर किसी को होती है इससे अच्छी बात क्या हो सकती है की आपको अपने काम के लिए ज्यादा सैलरी के साथ सम्मान भी मिले. एमबीए करने के बाद आपकी सैलरी शुरुवात में उतनी ज्यादा नहीं होती लेकिन कुछ साल के अनुभव के बाद आप महीने में लाखों रूपए कमा सकते है. इसकी एक और ख़ास बात होती है की जॉब सिक्यूरिटी आपको अच्छी मिलती है इसलिए आपको भविष्य के लिए चिंतित होने की जरुरत नहीं पड़ती.
  • MBA करने के बाद आपको बिज़नेस और इंडस्ट्री की अच्छी समझ हो जाती है. इसका सबसे बड़ा फायदा है की आप अपना व्यवसाय कर सकते हो और अच्छी टीम बना सकते हो जो अपने काम के प्रति वफादार रहे. यह इसलिए भी जरुरी है क्यूंकि बहुत से लोग जॉब से ज्यादा व्यवसाय को महत्व देते है. जॉब में आपकी आमदनी निश्चित होती है लेकिन व्यवसाय में आप अपने काम अनुसार जितना मर्जी कमा सकते है. एमबीए एक ऐसा कोर्स माना जाता है जिसमे आपको जॉब भी मिल जाती है और अगर कोई व्यवसाय करना ज्यादा पसंद करते है तो उन्हें अपने व्यवसाय को कैसे आगे बढ़ाना है इसकी भी समझ हो जाती है. इसलिए एमबीए दोनों तरीके से बेस्ट है यह आप पर निर्भर करता है आप व्यवसाय करना चाहते है या जॉब.
  • बहुत बार ऐसा होता है की हम अपने परिवार के लिए अकेले कमाने वाले व्यक्ति होते है और हमें अपने परिवार का पूरा खर्च उठाना पड़ता है. अगर कोई जॉब के वजह से आगे की पढ़ाई नहीं कर पा रहे और अपने जॉब से संतुष्ट भी नहीं है तो एमबीए किया जा सकता है. जैसा की हमने अभी जाना था एमबीए को पार्ट टाइम भी किया जा सकता है इसलिए अगर किसी के पास समय की कमी है तो पार्ट टाइम एमबीए में एडमिशन ले सकते है. इससे फायदा यह होगा की आपकी जॉब भी नहीं छूटेगी और आप जॉब से आने के बाद एमबीए की पढ़ाई भी कर सकते हो.
  • एमबीए एक ऐसा कोर्स है जिसकी डिमांड सिर्फ इंडिया ही नहीं बल्कि पूरी दुनियाभर में है. आप सभी जानते हो किसी भी बिज़नेस या कंपनी को चलाने के लिए हमें अच्छी मैनेजमेंट टीम की आवश्यकता पड़ती है. आप किसी भी देश में देख लो कोई ऐसा देश नहीं होगा जहा कोई कंपनी न हो क्यूंकि आजकल सभी बड़ी कंपनियां अपनी ब्रांच को दुनियाभर में लाने का प्रयास कर रहे है. अगर कोई व्यक्ति विदेश में जा कर काम करना चाहता है तो एमबीए कर सकता है इसके लिए बस आपको कंपनी का इंटरव्यू पास करना होता है और आपकी नौकर पक्की.
  • आप जिस वातावरण में जिन लोगो के साथ रहते हो वह आपके पर्सनालिटी और सोच पर जरुर प्रभाव डालते है. एमबीए करने के दौरान भी आपके साथ ऐसा ही कुछ होता है. जब आप एमबीए करते हो तब आपको एमबीए स्टूडेंट्, टीचिंग स्टाफ और प्रोफेसर से बहुत कुछ सिखने और समझने का मौका मिलता है. इन लोगो से बात करके आपकी कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होती है, आपके दिमाग में नएबिज़नेस आइडियाज आते है, आपको मार्केटिंग और मैनेजमेंट समझने में आसानी होती है. यह सभी चीजे आपको आने वाले समय में काफी मदद करते है जो बिज़नेस के साथ आपके सोच पर भी सकारात्मक प्रभाव डालते है.
  • एमबीए एक ऐसा कोर्स है जिसे करने के बाद आप एक अच्छी रणनीति बनाने में सक्षम हो जाते हो. यह आपको सिखाता है की आप प्लानिंग के साथ कैसे किसी भी स्थिति से निपट सकते हो. यह प्लानिंग सिर्फ आपके बिज़नेस में ही नहीं मदद करता बल्कि जिंदगी के किसी भी परिस्थिति से कैसे गुजरना है इसकी भी समझ देता है. यह आपके मनोबल के लिए काफी जरुरी है जिससे सफलता निश्चित होती है.
  • MBA करने के बाद हो सकता है आप बिज़नेस मैनेजमेंट में न जाते हुए किसी दुसरे क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहे. एमबीए एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स माना जाता है जिसे करने के बाद आपकी पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी हो जाती है. अब आप चाहे तो पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद जो कोर्स होते है जैसे कीPhD कर सकते हो और किसी बड़े यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बन सकते हो.

एमबीए के लिए बेस्ट सब्जेक्ट

ये एक ऐसा कोर्स है जिसमें बहुत तरह के विषय होते हैं और मेरी माने तो हर छात्र को वैसे विषय विषयों का ही चुनाव करना चाहिए जो वह पसंद करते हैं यानी कि इंटरेस्टेड एरिया के अनुसार ही अपनी विषय का चुनाव करना चाहिए क्योंकि इससे पढ़ने में रुचि बनी हुई रहती है और पढ़ने में भी मजा आता है कोर्स करने में किसी तरह की दिक्कत नहीं होती है. लेकिन अगर सामान्य तौर पर बात करें तो हम आपको ऐसे विषयों की लिस्ट देने जा रहे हैं जिनको करने से आपको काफी फायदे हैं और आप यह जरूर देखें कि आप को इनमें रुचि है कि नहीं है. MBA Kya Hai?

  • General management
  • International Management
  • Strategy
  • Consulting
  • Finance
  • Human Resources
  • Leadership
  • Entrepreneurship
  • Marketing
  • SCM (Supply Chain management)
  • Operations management
  • IT or Technology management
  • Health Care Management

आपको यह content helpful लगा हो तो प्लीज इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें

Thanks for reading

 

 

Be the first to comment on "MBA Kya Hai? | MBA Course Details in Hindi"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*