Motherboard Kya Hai In Hindi? | Motherboard in Hindi

what is motherboard ;मदरबोर्ड का चित्र ;मदरबोर्ड कीमत ;मदरबोर्ड कैसे बनता है ;मदरबोर्ड का आविष्कार किसने किया ;डॉटर बोर्ड क्या है ;मोबाइल मदरबोर्ड

MotherBoard Kya Hai In Hindi? : अगर आपको कंप्यूटर में रूचि है तो आपने कंप्यूटर मै MotherBoard का नाम आपने जरुर सुना होगा क्योकि यह कंप्यूटर की रीढ़ की हड्डी है इसके बिना हम कंप्यूटर के उपकरणों को कनेक्ट नहीं कर सकते हैं. MotherBoard कंप्यूटर के सभी उपकरणों को आपस में जोड़े रखती है. लेकिन आपको MotherBoard के बारे में पूरी जानकारी नहीं है या फिर आप MotherBoard के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए ही है क्योकि इस लेख के माध्यम से हमने आपको Motherboard क्या है, MotherBoard कितने प्रकार का होता है, MotherBoard के विभिन्न भागों के नाम और MotherBoard के कार्य के बारे में जानकारी दी है. MotherBoard Kya Hai In Hindi?

MotherBoard क्या होता हैं – What is Motherboard in Hindi?

MotherBoard कम्प्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है. जिसमे सभी आवश्यक उपकरण जुडे रहते हैं. इनमें CPU, RAM, HDD, Monitor, BIOS, CMOS, Mouse, Keyboard आदि उपकरण शामिल है जो Dedicated Ports के माध्यम से जुडे रहते हैं. MotherBoard इन उपकरणों को Power Supply पहुँचाता है और आपस में Communication करवाता हैं. कम्प्यूटर MotherBoard एक Printed Circuit Board (PCB) होता है. जिसे Logical Board, System Board, Printed Wired Board (PWB), और Mainboard (Mobo) के नाम से भी जाना जाता है. MotherBoard एक प्लास्टिक शीट होती हैं जिसमे उपकरणों को जोडने के लिए विभिन्न Ports बनाये जाते है. प्रत्येक पोर्ट का Connection MotherBoard में Solder किया हुआ रहता हैं. जिसे हम अपनी आंखों से भी देख सकते हैं. MotherBoard Kya Hai In Hindi?

MotherBoard का इतिहास (History of Motherboard in Hindi)

आज के समय में जिन MotherBoard का इस्तेमाल होते हैं वह बहुत ही Advance थे लेकिन पहले के समय में जो MotherBoard होते थे वह इतने विकसित नहीं थे ये MotherBoard कुछ विशेष कामों को ही कर सकते थे. पहला MotherBoard Planer Breadboard था जिसे 1981 में IBM कंपनी के द्वारा बनाया गया था. इसे कंप्यूटर सिस्टम में इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया था. यह MotherBoard इतना Advance नही था. 1984 में IBM ने नयी टेक्नोलॉजी के साथ Advance Motherboard बनाया, यह MotherBoard सभी प्रकार के Desktop के लिए उचित था. 1986 में ताइवान के Pei Chang के द्वारा बनाया गया MotherBoard Gigabyte अस्तित्व ने आया. 1989 में ताइवान में Pegasus नाम की कंपनी बनी जो कि ACER के एप्लीकेशन के द्वारा बनायीं गयी थी. आगे चलकर यह दुनिया में MotherBoard बनाने वाली कंपनी बनी. धीरे – धीरे अन्य कंपनियां भी अस्तित्व में आने लगी जो MotherBoard Manufacture करने लगी जैसे Intel, ASUS Tek आदि. आज के समय में मार्किट में अपनी क्षमता, बनावट और आकार के आधार पर अनेक MotherBoard उपलब्ध हैं. MotherBoard Kya Hai In Hindi?

GUI Kya Hota Hai? | Graphical User Interface Kya Hai

UPS Kya Hai? | Types of UPS In Hindi

Functions of Motherboard

अब चलिए जानते हैं Motherboard के अलग अलग Functions क्या क्या हैं :-

  1. Component’s Hub:  Motherboard एक Backbone की तरह काम करता है किसी भी कंप्यूटर का जिसमे कंप्यूटर के दुसरे पार्ट्स जैसे CPU, RAM और Hard Disk को install किया जाता है .
  2. Slots for External Peripherals: Motherboard एक platform के तरह भी काम करता है जिससे की बहुत सारे Expansion Slots को ये available करवाता है जिससे हम नए device or Interface यहाँ install कर सकते हैं.
  3. Power Distribution: Motherboard की मदद से computer की दुसरे components को power supply किया जाता है.
  4. Data Flow: Motherboard एक Communication Hub की तरह काम करता है जिसके  द्वारा सारे Peripherals connect होते हैं. यहाँ Motherboard ये control करता है की सारे Peripherals अपने बिच ठीक ढंग से Communicate कर सकें. और Motherboard data traffic को मैनेज करता है.
  5. BIOS: Motherboard पकड़ के रखता है Read Only Memory को, BIOS जो की जरुरत पड़ता है कंप्यूटर को boot up करने के लिए. तो इससे ये पता चलता है की Motherboard की मदद से Computer Start होता है.



MotherBoard के प्रकार (Types of motherboard in hindi)

Motherboard के मुख्य 2 प्रकार होते है –

1. Integrated Motherboard

2. Non Integrated Motherboard

  • Integrated Motherboard 

इंटीग्रेटेड MotherBoard वे MotherBoard होते है जिनमे अलग अलग devices जोड़ने के लिए ports दिए होते है यह motherboard आमतौर पर कंप्यूटर / लैपटॉप्स में होते है . Integrated Motherboard से हम विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर कम्पोनेंट्स जोड़कर अपने सिस्टम को अपग्रेड कर सकते है . Integrated Motherboard में RAM , graphics card जैसे इंटरनल कम्पोनेंट्स अपग्रेड किये जा सकते है . इस Motherboard में हम खुद से ग्राफ़िक्स कार्ड लगा सकते है RAM लगा सकते है और Motherboard कुछ भी changes करके सिस्टम को मॉडिफाई कर सकते है .

  • Non Integrated Motherboard 

नॉन इंटीग्रेटेड MotherBoard वे MotherBoard होते है जो सिस्टम के अंदर पर्मनेंट्ली फिट किये गए होते है यह motherboard आमतौर पर मोबाइल फ़ोन और tablets में होते है . इस प्रकार के motherboard में किसी भी प्रकार के बदलाव या अपग्रेड नहीं किया जा सकता है , इस Motherboard में हम खुद से ग्राफ़िक्स कार्ड , RAM नहीं लगा सकते है और Motherboard कुछ भी changes नहीं कर सकते है . Non Integrated Motherboard को मॉडिफाई नहीं किया जा सकता है क्योंकि इसे एक ही बार बनाया जाता है और Sholdering कर दिया जाता है .

Motherboard  के प्रमुख Parts और उनके Functions

कंप्यूटर के सभी पार्ट्स को एक साथ जोड़ने के लिए computer motherboard एक platform की तरह है. निचे उन पार्ट्स के नाम और उनके कार्यो के बारे में बताया गया है.

  1. CPU Socket: ये मदरबोर्ड में लगा सबसे महत्वपूर्ण सॉकेट है, क्युकी इसमें CPU (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट) यानि computer brain को फिट किया जाता है.  इसे processor भी कहते है, जिसका काम program instructions को लाने उनकी processing करने और data को transfer करना होता है.
  2. RAM Slots: कंप्यूटर का वो स्थान जहां रैम (रैंडम एक्सेस मेमोरी) को लगाया जाता है. RAM, computer performance को बढ़ाने के लिए dynamic data को temporarily store करके रखती है.
  3. I/O Ports: मदरबोर्ड में मौजूद ये Ports कंप्यूटर के Input / Output Device को computer से connect करने का काम करते है. इनमे keyboard, mouse, microphone, speaker, monitor, USB devices, Ethernet network cable और headphones को जोड़ने के लिए विभिन्न पोर्ट्स जैसे – HDMI Port (जाने HDMI क्या है) शामिल होते है.
  4. North Bridge Chipset: नार्थ ब्रिज या host bridge एक Microchip है, जो सीधे CPU से जुडी होती है. इसका काम RAM, hard disk और PCI devices को manage करना है. नए motherboard में ये heat sink के निचे मौजूद होती है.
  5. South-Bridge Chipset: इसे IC chip भी कहते है, जो north-bridge से connect होता है. ये सभी input/output functions को control करने का काम करता है.
  6. Power Connector: ये 20-24 pin का एक पावर कनेक्टर है. जो SMPS (Switch Mode Power Supply) से connect होता है. इसका काम Electricity खींचना और मदरबोर्ड में power supply करना होता है. आप कह सकते है, computer system को संचालित करने के लिए आवश्यक बिजली आपूर्ति का काम इन्ही connector द्वारा किया जाता है.
  7. Expansion Card Slots: मदरबोर्ड में लगे वो स्लॉट्स जहां आप अतिरिक्त कार्ड को स्थापित कर सकते है. ये तब काम आते है, जब आप अपना PC upgrade करना चाहे. इन कार्ड स्लॉट्स को AGP slots (Accelerated Graphics Port) और PCI slots के नाम से जाना जाता है. इनकी मदद से आप अपने motherboard में extra  graphic card, audio card, network card और modem card लगा सकते है.
  8. IDE Connector: IDE जिसका पूरा नाम Integrated Drive Electronics है, ये computer के अंदर hard disk और optical disc devices (CD, DVD) को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होता है. हालाँकि आज motherboard में नए प्रकार के कनेक्टर इस्तेमाल किये जाते है, जिनमे SATA connector शामिल है. IDE के 40 pin के मुकाबले ये 7 pin वाला कनेक्टर है.
  9. CMOS Battery: इसकी फुल फॉर्म है, Complementary Metal Oxide Semi-Conductor ये बैटरी संचालित चिप है, जो date एंड time और hardware setting जैसी information को स्टोर करके रखती है.
  10. Heat Sink: एक metal device  है, जो मदरबोर्ड के गर्म होने पर high temperature को absorb कर लेता है. जिससे गर्म हुए पार्ट्स अधिक गर्म नहीं होते और वे सही तरह से काम कर पाते है. मदरबोर्ड में ये नार्थ ब्रिज के उप्पर स्थापित होता है.

इसके अलावा motherboard में कई छोटे-छोटे दूसरे पार्ट्स भी लगे होते है. इतना कुछ जानने के बाद आप एक बात तो समझ गए होंगे कि एक computer motherboard की क्या भूमिका है. चलिए अंत में मदरबोर्ड की विशेषताएं क्या है इस पर एक नजर डालते है. MotherBoard Kya Hai In Hindi?



Click Here  : Buy Best Web Hosting 

मदरबोर्ड की विशेषताऍ 

एक कंप्यूटर में Motherboard की महत्वता किसी भी दूसरे computer hardware से कही अधिक है. हालाँकि कंप्यूटर के बेहतर कार्य करने के लिए प्रत्येक घटक महत्वपूर्ण है. चलिए हम आपको बताते है, कि मदरबोर्ड की कौन सी विशेषताएं इसे कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण अंग बनाती है. जैसा की हमने आपको बताया motherboard एक circuit board है जिसके उप्पर सभी महत्वपूर्ण internal computer hardware जैसे – सीपीयू इत्यादि लगे होते है. एक motherboard ना सिर्फ उन components के बैठने के लिए जगह प्रदान करता है, बल्कि उनका सीपीयू के साथ communication भी कराता है , जिससे वे data को आपस में share कर पाते है. इसके साथ ही मदरबोर्ड में कई slots लगे होते है, जो external devices जैसे  – माउस को computer में जोड़ने का काम करते है. जिससे आप कंप्यूटर को input देते है और output प्रदान करते है.

Motherboard इससे जुड़े सभी कंप्यूटर घटकों के लिए जरुरी power supply का काम भी करती है. अर्थात कंप्यूटर को चालू करने से लेकर operate करने तक सभी महत्वपूर्ण कार्यो में motherboard की उपयोगिता को बिलकुल नकारा नहीं जा सकता. यदि हम CPU को कंप्यूटर का brain मानते है, तो मदरबोर्ड उसका nervous system है. MotherBoard Kya Hai In Hindi?

मुझे आशा है की आप लोगो को समझ आगया होगा की  Motherboard Kya Hai? | Motherboard in Hindi दोस्तों अगर आपको मेरा ये Article अच्छा लगा हो तो Share जरूर करे | 

Thanks for reading

Be the first to comment on "Motherboard Kya Hai In Hindi? | Motherboard in Hindi"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*