Monday, February 26, 2024
HomeDigital MarketingPay Per Click Advertising Kya Hai ? Best Platform For PPC Advertising 

Pay Per Click Advertising Kya Hai ? Best Platform For PPC Advertising 

Pay Per Click Advertising Kya Hai :- यदि आपको Digital marketing में Interest है, तो आपने कभी न कभी pay per click Advertising के बारे में सुना होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि pay per click Advertising Kya Hai ?, इसे कैसे किया जाता है, यह कैसे काम करता है और pay per click Advertising के क्या फायदे हैं? यदि नहीं, तो आप सही लेख पर आए हैं। इस लेख के माध्यम से, हमारा उद्देश्य आपको pay per click Advertising के बारे में जानकारी प्रदान करना है।



आज के डिजिटल युग में लगभग सब कुछ डिजिटल होता जा रहा है, और बड़ी कंपनियां Digital marketing में attached होना पसंद करती हैं। Digital marketing में विभिन्न तकनीकें शामिल हैं, और एक अत्यधिक लोकप्रिय तकनीक pay per click Advertising है। pay per click Advertising कंपनियों को न्यूनतम बजट में अच्छे परिणाम प्राप्त करने की अनुमति देती है। pay per click Advertising के बारे में विस्तार से जानने के लिए, पूरा लेख पढ़ना तो चलिए बिना और समय बर्बाद किये शुरू करते हैं

PPC Full Form In Hindi

PPC का फुल फॉर्म Pay Per Click होता है हिंदी में इसे प्रति क्लिक भुगतान कहते हैं. यह ऐसी मार्केटिंग तकनीकी होती है जिसमें Advertiser को यूजर के द्वारा अपने विज्ञापनों पर किये गए प्रत्येक क्लिक का भुगतान करना होता है.

Pay Per Click Advertising Kya Hai

ppc , जिसका अर्थ pay per click है, एक Digital marketing रणनीति है जहां advertiser अपनी वेबसाइट या Landing Page पर ट्रैफ़िक चलाने के लिए प्रत्येक क्लिक के लिए भुगतान करते हैं।

pay per click Advertising एक ऐसी तकनीक है जहां advertiser search engine या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन चलाते हैं और उन्हें अपने विज्ञापनों पर प्रत्येक क्लिक के लिए search engine या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भुगतान करना पड़ता है। उनके विज्ञापनों पर जितने ज्यादा क्लिक होते हैं, उन्हें उतने ही ज्यादा पैसे चुकाने पड़ते हैं।

Read More :- Content Marketing Kya Hai? और Content Marketing क्यों जरुरी है ?

उदाहरण के लिए, यदि आप अपनी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक लाने के लिए Google पर विज्ञापन चलाते हैं, तो जब भी कोई User आपके विज्ञापन पर क्लिक करता है और आपकी वेबसाइट पर जाता है, तो आपको उस क्लिक के लिए Google को भुगतान करना होगा। pay per click Advertising के साथ, आप कम समय में अपने मार्केटिंग उद्देश्यों को प्राप्त कर सकते हैं। यह आपको अपनी वेबसाइट पर जल्दी से ट्रैफ़िक लाने और आपके pay per click Advertising अभियान के लिए निर्धारित उद्देश्यों को पूरा करने की अनुमति देता है।

pay per click Advertising कम समय में आपकी वेबसाइट पर Traffic generate करने और आपके द्वारा निर्धारित Specific उद्देश्यों को पूरा करने का लाभ प्रदान करती है।

PPC Advertising के प्रकार | Types Of PPC Advertising In Hindi

PPC Advertising मुख्य रूप से 6 प्रकार की होती हैं, जिनके बारे में हमने आपको यहाँ विस्तार से बताया है –

  1. सर्च एड् (Search Ad)
  2. डिस्प्ले एड् (Display Ad)
  3. नेटिव एड् (Native Ad)
  4. विडियो एड् (Video Ad)
  5. सोशल मीडिया एड् (Social Media Ad)
  6. Remarketing



1 – सर्च एड् (Search Ad)

search ad केवल Google या बिंग जैसे खोज इंजनों पर ही चलाए जा सकते हैं। search advertising Specific keywords पर चलाए जाते हैं, और जब कोई User उस keywords की खोज करता है, तो उन्हें Organic Search परिणामों से पहले विज्ञापन दिखाए जाते हैं। search advertising के URL में आमतौर पर इसके पहले “विज्ञापन” शब्द शामिल होता है।

Search Ad

2 – डिस्प्ले एड् (Display Ad)

Display Ad ज्यादातर ब्लॉग या वेबसाइट पर देखे जाते हैं। उदाहरण के लिए आप मेरे ब्लॉग पर चल रहे विज्ञापन देख सकते हैं, जहां कंपनियां अपने उत्पादों का प्रचार करती हैं। ये सभी display advertising हैं।

display advertising आमतौर पर User की Interestयों के आधार पर दिखाए जाते हैं, जिसका अर्थ है कि User उन चीज़ों से संबंधित विज्ञापन देखेंगे जिन्हें वे दिन भर में अधिक बार खोजते हैं। कंपनियों के लिए अपने उत्पादों या सेवाओं का विज्ञापन करने के लिए display advertising बेहद फायदेमंद होते हैं।

3 – नेटिव एड् (Native Ad)

आपने अधिकांश ब्लॉग या समाचार वेबसाइटों पर लेखों के नीचे original advertisement देखे होंगे। इन विज्ञापनों को नेटिव विज्ञापन कहा जाता है। original advertisement में, advertiser अपने विज्ञापनों को लेखों से मिलते जुलते बनाने के लिए बनाते हैं। कई ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर ट्रैफ़िक लाने के लिए देशी विज्ञापन भी चलाते हैं। आप Google, Taboola, या Mgid जैसे प्लेटफॉर्म के माध्यम से original advertisement चला सकते हैं।



4 – विडियो एड् (Video Ads)

जैसा कि नाम से पता चलता है, वीडियो विज्ञापन वीडियो के रूप में होते हैं। आपने Facebook और YouTube जैसे प्लेटफ़ॉर्म पर वीडियो विज्ञापन देखे होंगे, जहाँ व्यक्ति या कंपनियां अपने उत्पादों को दर्शकों के सामने प्रदर्शित करती हैं। आप Google Ads का उपयोग करके YouTube पर वीडियो विज्ञापन चला सकते हैं।

5 – सोशल मीडिया एड् (Social Media Ads)

सोशल मीडिया आपके उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देने का सबसे अच्छा तरीका है। आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के बावजूद, आप विभिन्न कंपनियों के विज्ञापन देखेंगे। सोशल मीडिया पर इन विज्ञापनों को सोशल मीडिया विज्ञापन के रूप में जाना जाता है। सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्यवसायों के targeted दर्शकों तक पहुंचने के लिए अपने प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन चलाने की क्षमता प्रदान करते हैं।

6 – Remarketing

आपने देखा होगा कि जब आप Amazon की वेबसाइट पर जाते हैं और किसी उत्पाद की जांच करते हैं, तो आपको हर जगह Amazon के विज्ञापन दिखाई देने लगते हैं। इसे Remarketing कहा जाता है।

आप अपने Landing Page पर Facebook पिक्सेल या Google टैग जोड़ सकते हैं और विशेष रूप से उन लोगों को विज्ञापन दिखाने के लिए कस्टम ऑडियंस बना सकते हैं, जो आपके Landing Page पर आ चुके हैं। Remarketing एक शक्तिशाली तकनीक है जो आपको उन User को targeted करने और उनसे जुड़ने की अनुमति देती है जो पहले से ही आपके प्रस्तावों में Interest दिखा चुके हैं।

PPC Advertising के प्लेटफ़ॉर्म | Best Platform For PPC Advertising 

PPC यानि Pay Per Click Advertising करने के लिए तीन सबसे Best Platform निम्नलिखित है –

  • search engine (Google Ads, Bing Ads)
  • सोशल मीडिया
  • Solo Ads

1 – Search Engine में PPC Advertising

pay per click Advertising का सबसे शक्तिशाली तरीका search engine विज्ञापन है। search engine पर विज्ञापन चलाकर आप अपनी वेबसाइट को अत्यधिक competitor keywords के लिए भी रैंक कर सकते हैं। खोज इंजन विज्ञापन विशेष रूप से आपके व्यवसाय से संबंधित keywords को targeted करते हैं। search engine पर pay per click Advertising करने की प्रक्रिया को search engine मार्केटिंग (एसईएम) के रूप में जाना जाता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप “Digital marketing एजेंसी” keywords पर विज्ञापन चलाते हैं, जब कोई User “Digital marketing एजेंसी” की खोज करता है, तो आपकी वेबसाइट ऑर्गेनिक खोज परिणामों के सामने दिखाई देगी, जिससे क्लिक प्राप्त करने की संभावना बढ़ जाएगी। Search Ads के अलावा आप Search Engines पर Display Ads और Native Ads भी चला सकते हैं।

search engine में PPC मार्केटिंग करने के सबसे बेस्ट प्लेटफ़ॉर्म Google और Bing है.

  • Google AdWords – गूगल पर विज्ञापन दिखाने के लिए आपको Google AdWords में अपना अकाउंट बनाना पड़ता है और फिर यहाँ से Campaign Create करके गूगल या YouTube में आप विज्ञापन चला सकते हैं.
  • Bing Ads – Bing माइक्रोसॉफ्ट का search engine है जो कि गूगल के बाद दूसरा सबसे बड़ा search engine है. Bing में Ad Campaign run करने के लिए आपको Bing Ads में अकाउंट बनाना होता है, और फिर यहाँ से आप Bing में Ads run कर सकते हैं.

search engine में PPC मार्केटिंग करना अन्य प्लेटफ़ॉर्म के अपेक्षा थोडा Costly होता है, क्योंकि search engine में Competition बहुत अधिक है. और यहाँ पर Hot Traffic होता है.

2 – सोशल मीडिया PPC मार्केटिंग

आजकल ज्यादातर लोग सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं, जो pay per click Advertising के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को एक बेहतरीन विकल्प बनाता है, और इसके अच्छे परिणाम भी मिलते हैं। सोशल मीडिया पर pay per click Advertising करने की प्रक्रिया को सोशल मीडिया मार्केटिंग (एसएमएम) कहा जाता है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग के लिए, advertiser ज्यादातर फेसबुक विज्ञापनों को पसंद करते हैं क्योंकि फेसबुक दर्शकों की एक wide range प्रदान करता है और आप फेसबुक पर किसी भी उत्पाद का प्रचार कर सकते हैं। जबकि अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के दर्शक सीमित हैं।




फेसबुक पर pay per click Advertising करने के लिए आपके पास एक फेसबुक पेज और एक फेसबुक एड मैनेजर अकाउंट होना चाहिए। फेसबुक से आप इंस्टाग्राम पर भी विज्ञापन चला सकते हैं। PPC मार्केटिंग के लिए अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में Twitter, LinkedIn, Pinterest आदि शामिल हैं।

3 – Solo Ads

solo ad वास्तव में pay per click Advertising का एक प्रकार है। यह ईमेल मार्केटिंग का एक रूप है जहां एक अन्य व्यक्ति, जिसे सोलो एड सेलर के रूप में जाना जाता है, आपके उत्पाद के बारे में ईमेल के माध्यम से अपने दर्शकों को जानकारी भेजता है, और आपसे प्रत्येक क्लिक के लिए शुल्क लिया जाता है जो लोग ईमेल पर करते हैं।

सोलो एड सेलर्स के पास पहले से ही Specific निशानों में लोगों की मेलिंग सूची है। आप solo ads के माध्यम से उन लोगों को ईमेल भेज सकते हैं जिनकी आपके उत्पाद या सेवा में Interest है।

UDIMI solo ads के लिए एक बड़ा बाज़ार है जहाँ आप हर श्रेणी के लिए solo ad विक्रेता पा सकते हैं। आप अपने बजट के आधार पर सोलो एड सेलर्स को हायर कर सकते हैं और उसके अनुसार ईमेल भेज सकते हैं। आपको सोलो एड सेलर्स को उनके द्वारा जेनरेट किए गए क्लिक्स की संख्या के आधार पर भुगतान करना होगा।

PPC Advertising कैसे काम करता है?

Paid Ad चलाने के लिए कई सारे फैक्टर महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जिनके बारे में हमने नीचे आपको बताया है –

keywords 

pay per click Advertising में keywords महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। keywords वे शब्द या वाक्यांश होते हैं जिन्हें User खोजते हैं। advertiser अपने उत्पादों और सेवाओं से संबंधित keywords पर विज्ञापन चलाकर सही ऑडियंस तक पहुँच सकते हैं।

उदाहरण के लिए, मान लें कि आप Digital marketing से संबंधित सेवाएं प्रदान करते हैं। सही ऑडियंस तक पहुँचने के लिए, आपको “Digital marketing Service ” जैसे keywords्स पर विज्ञापन चलाने होंगे। यह सुनिश्चित करता है कि आपका विज्ञापन केवल उन्हीं लोगों को दिखाया जाए जो सक्रिय रूप से Google जैसे प्लेटफ़ॉर्म पर Digital marketing सेवाओं के बारे में जानकारी खोज रहे हैं।

Specific keywords को targeted करके, आप अपने विज्ञापन की visibility को अनुकूलित कर सकते हैं और relevant audience तक पहुँचने की संभावना बढ़ा सकते हैं।

Budget And Bidding

अपने विज्ञापनों के लिए optimal performance प्राप्त करने के लिए, advertiserओं को अपने विज्ञापनों को Top position पर रखने के लिए keywords पर बोलियाँ लगानी होती हैं। किसी विशेष keywords के लिए अपने विज्ञापन को Top position पर रखने के लिए वे जो राशि चुकाने को तैयार हैं, वह उनकी बोली निर्धारित करती है। advertiser जो उच्च बोली प्रदान करता है, उसके विज्ञापन के लिए प्रथम position हासिल करने की संभावना अधिक होती है।

उदाहरण के लिए, यदि आपका प्रतियोगी किसी Specific keywords पर अपने विज्ञापन को रैंक करने के लिए INR 50 प्रति क्लिक खर्च कर रहा है, और आप उसी keywords पर अपने विज्ञापन को रैंक करने के लिए INR 100 प्रति क्लिक खर्च करने को तैयार हैं, तो आपके पहले position पर प्रदर्शित होने की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि, इसकी गारंटी नहीं है कि उच्चतम बोली वाला advertiser हमेशा प्रथम position प्राप्त करेगा। बोली लगाने की प्रक्रिया जटिल है, और मूल्य प्रति क्लिक आवश्यक रूप से आपके खाते से काटी गई राशि के बराबर नहीं है। ज्यादातर मामलों में, प्रति क्लिक वास्तविक लागत बोली राशि से कम होती है।

इस प्रक्रिया को समझना चुनौतीपूर्ण हो सकता है, क्योंकि विभिन्न कारक pay per click Advertising में विज्ञापनों की रैंकिंग और लागत को प्रभावित करते हैं।

Quality Score

PPC advertising में अच्छा Quality Score होने से कम पैसों में भी आपकी Ad अच्छा परफॉर्म करती है. search engine अनेक फैक्टर देखने के बाद किसी विज्ञापन को अच्छी रैंक देती है.

Ad Rank निकालने का Formula होता है (Quality Score * Max CPC).




Ad Rank को प्रभावित करने वाले कुछ प्रमुख कारक निम्नलिखित है –

  • Bid अमाउंट
  • Ad की relevance और quality
  • Ad फॉर्मेट
  • लैंडिंग पेज (यानि Ad पर क्लिक करके जिस वेबपेज में यूजर जायेगा)
  • keywords

Quality Score जितना अधिक होगा, CPC (Cost Per Click) उतना ही कम होगा. Quality Score को Improve करने के लिए कुछ टिप्स हमने नीचे आपको बताई हैं –

  • अपने प्रोडक्ट से समबन्धित keywords को टारगेट करें.
  • Ad Copy में keywords का इस्तेमाल कीजिये.
  • जिन भी keywords को आपने टारगेट किया है वह आपके लैंडिंग पेज में होने चाहिए.
  • यूजर एक्सपीरियंस बेहतर बनाने के लिए लैंडिंग पेज में सही इनफार्मेशन दें, साथ ही लैंडिंग पेज की स्पीड भी सही रखें.
  • CTR बढाने के लिए Catchy टाइटल लिखें.

ये कुछ बेसिक फैक्टर हैं जिनको ध्यान में रखकर अगर आप Ad run करते हैं तो आपकी Ad अच्छा perform करती है.

Targeting

PPC मार्केटिंग में Advertiser के पास विकल्प रहता है कि वह Ad किन लोगों को दिखाना चाहता है. सही keywords को सेलेक्ट करके आप Ad को Relevant ऑडियंस को दिखा सकते हैं. लेकिन Campaign को अच्छी तरह ऑप्टिमाइज़ करने के लिए आपके पास अन्य विकल्प भी होते हैं जैसे कि –

  • Location – आप किस देश, राज्य या शहर में विज्ञापन चलाना चाहते हैं.
  • Device – आप Decide कर सकते हैं कि Ad को किस डिवाइस में दिखाना है. जैसे मोबाइल, लैपटॉप, टेबलेट आदि.
  • Day and Timing – आप किस दिन विज्ञापन चलाना चाहते हैं, और विज्ञापन चलाने का समय क्या होगा.
  • Demographic – आप किस उम्र और Gender के लोगों को विज्ञापन दिखाना चाहते हैं.

यह सब कुछ आप PPC मार्केटिंग में सेलेक्ट कर सकते हैं.

आर्टिकल को यहाँ तक पढने के बाद आप समझ गए होंगें कि Pay Per Click Advertising Kya Hai , अब PPC Advertising के फायदे और नुकसानों के बारे में भी जान लेते हैं.

PPC Advertising के फायदे

PPC Advertising के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • PPC Advertising में जल्दी परिणाम मिलते हैं जिससे आप अपने मार्केटिंग उद्देश्यों को जल्दी पूरा कर सकते हैं.
  • PPC Advertising में advertiser को तभी भुगतान करना होता है जब यूजर Ad पर क्लिक करेगा, इसलिए PPC मार्केटिंग बजट फ्रेंडली होती है.
  • PPC मार्केटिंग में advertiser को अपने ऑडियंस को सेलेक्ट करने का विकल्प होता है, आप Demographic, लोकेशन, डिवाइस आदि के आधार पर लोगों को Ad दिखा सकते हैं.
  • हर PPC मार्केटिंग प्लेटफ़ॉर्म में ट्रैक करने का ऑप्शन होता है, जहाँ से आप Check कर सकते हैं आपकी ad कैसी Perform कर रही है.
  • PPC मार्केटिंग से आप High Competition keywords पर भी अपनी वेबसाइट को रैंक करवा सकते हैं.

PPC Advertising के नुकसान

PPC Advertising के नुकसान निम्नलिखित हैं –

  • PPC मार्केटिंग में आपको अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए अपना समय देना होता है, अगर आप Ad run करके छोड़ देते हैं तो आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है.
  • PPC मार्केटिंग के लिए स्किल की जरुरत होती है बिना स्किल के आप अच्छे रिजल्ट प्राप्त नहीं कर सकते हैं.
  • आपके Competitor आपकी Ad पर Fake क्लिक कर सकते हैं जिससे आपको Cost बढ़ जायेगी.



FAQs Pay Per Click Advertising Kya Hai ?

PPC कहा से सीखे?

आप PPC (Pay Per Click) के बारे में यूट्यूब, Searchenginejournal.com और Semrush.com से PPC के बारे में सिख सकते है और PPC मार्केटिंग और PPC एड्स चला सकते है।

क्या PPC सही में काम करती है?

जी हाँ PPC सही में काम करती है। और Advertiser गूगल एड्स से PPC कैंपेन रन करके लाखो कमाते है।

PPC के लिए कितना कॉस्ट लगता है?

PPC के लिए कितना कॉस्ट लगता है इसका जबाब देना थोड़ा कठिन है क्योँ की PPC कॉस्ट आपके Keyword और कीवर्ड बिडिंग के ऊपर निर्भर करता है।

Conclusion

इस ब्लॉग पोस्ट को पढने के बाद आप अच्छी प्रकार से समझ गए होंगें कि pay per click Advertising , PPC Advertising कितने प्रकार की होती है. साथ में ही इस लेख में हमने आपको PPC Advertising के फायदों के बारे में भी समझाया है. अगर आप एक बिज़नस ओनर हैं तो आपको भी अच्छे रिजल्ट प्राप्त करने के लिए PPC Advertising करनी चाहिए.

उम्मीद करते हैं कि इस लेख से आपको कुछ ना कुछ सीखने को मिला होगा. यदि यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद रहा तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करके उन्हें भी फायदा पहुंचायें.

admin
admin
हमारी टीम में Digital Marketing, Technology, Blog, SEO, Make Money Online, Social Media Marketing, Motivational Quotes and Biography संबंधित क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल हैं। हम डिजिटल स्पेस में नवीनतम रुझानों और सर्वोत्तम प्रथाओं के साथ अप-टू-डेट रहने के लिए समर्पित हैं, और हम अपने पाठकों को ऑनलाइन सफल होने में मदद करने के लिए हमेशा नए और नए तरीकों की तलाश में रहते हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular