Penny Stocks Kya Hai | Top 10 Penny Stocks In India

penny stocks list ;penny stocks india ;top 10 penny stocks ;top 10 penny stocks in india 2022 ;penny stocks india below 1 rupee ;top 10 penny stocks in india 2021 ;multibagger penny stocks for 2025 ;penny stocks to buy today india for 2021

Penny Stocks Kya Hai | Top 10 Penny Stocks In India : Hello दोस्तों स्वागत है आपका technicalbandu.com के इस नए पोस्ट मैं जिसमें आप जानेंगे की Penny Stocks Kya Hai | Top 10 Penny Stocks In India Penny Stocks की हर चीज़ के बारे मे जानेगे |

पेनी स्टॉक्स (Penny Stocks) यानी बहुत ही कम कीमत वाले शेयर (Low Price Share), जिन्हें भंगार शेयर (Bhangar Share) भी कहा जाता है। इनकी कीमत चंद रुपयों में होती है। जब कोई शेयर बाजार में निवेश या ट्रेडिंग शुरू करता है तो उसे ये शेयर खूब लुभाते हैं। शुरुआती दौर में लोगों के पास सेविंग के पैसे कम होते हैं, क्योंकि नौकरी अभी शुरू ही की होती है। ऐसे में लोग पेनी स्टॉक्स में निवेश (should we invest in penny stocks?) करने की सोचते हैं। हालांकि, पेनी स्टॉक्स में निवेश करते वक्त आपको बहुत अधिक सावधानी बरतने की जरूरत होती है। आइए जानते हैं पेनी स्टॉक्स में निवेश करने के कुछ टिप्स, ताकि आपका नुकसान ना हो। Penny Stocks Kya Hai



पेनी स्टॉक्स क्या हैं? 

Penny stock Meaning: Penny का अर्थ होता है सिक्का, मतलभ सिक्के के मूल्य पर आप शेयर खरीदते है इसलिए इने पैनी स्टॉक्स कहते है.

Penny stock Definition: यानि की ये आमतौर पर बहुत ही छोटे कंपनी (Small / Micro cap) के शेयर, जिसकी की Price बहुत कम होती है.

भारत में 50 रु से कम कीमत वाले कंपनी के शेयरों को Penny स्टॉक कहते है और पश्चीमी देशो में इसकी कीमत $1 से कम होती है. Penny stock में बहुत से कंपनी का दिवाला निकला हुआ होता है इस कारण भी इनकी शेयर की प्राइस इतनी कम होती है. जिस कारण इस प्रकार के शेयर को लोग भंगार शेयर के नाम से भी जानते है.

IPO Kya Hai ? How to Invest IPO-IPO की पूरी जानकारी हिंदी में

IPO Allotment Status – Check Date, Process, Calculation and Upcoming IPO Details

पेनी स्टॉक्स की परिभाषा (Definition of Penny Stocks in Hindi)

स्मॉल कैप या माइक्रो कैप कंपनियों के वे शेयर जो स्टॉक मार्केट में कम प्राइस पर खरीदने के लिए उपलब्ध होते हैं, पेनी स्टॉक्स कहलाते हैं. ऐसे कम प्राइस वाले शेयर में रिस्क और रिटर्न दोनों ही बहुत ज्यादा होते हैं. ज्यादातर नए निवेशक ही ऐसे शेयरों की तरफ आकर्षित होते हैं क्योंकि वह जल्दी पैसा कमाना चाहते हैं लेकिन सच तो यह है कि पेनी स्टॉक्स वाली कंपनियां यह तो बर्बाद हो चुकी होती हैं या फिर उनका बिजनेस खत्म हो चुका होता है. लेकिन अब सवाल यह आता है कि फिर क्यों लोग अपना पैसा पेनी स्टॉक्स में निवेश करते हैं क्या इसका कारण सिर्फ शेयर का कम कीमत पर मिलना है या फिर कुछ और? और वह लोग ऐसा क्या अलग करते हैं जो पेनी स्टॉक्स खरीद कर बहुत ही कम समय में अमीर बन जाते हैं? क्या वह सिर्फ उनकी किस्मत होती है या फिर उन्हें कुछ ऐसी चीजें पता होती हैं आपको नहीं पता होती | Penny Stocks Kya Hai

क्या हैं इसकी विशेषताएं?

हाई-रिटर्न: ये स्टॉक दूसरे प्रकार की प्रतिभूतियों की तुलना में काफी अधिक रिटर्न उपलब्ध कराते हैं। चूंकि ऐसे शेयर स्मॉल और माइक्रो-कैप कंपनियों द्वारा जारी किए जाते हैं, उनमें वृद्धि की विशाल संभावनाएं होती हैं। इसके परिणामस्वरूप, बाजार के उतार चढ़ाव के प्रति इसके रिस्पांस की तीव्रता को देखते हुए पेनी स्टॉक जोखिम भरे होते हैं।

इलिक्विड: यह देखते हुए कि जो कंपनियां उन्हें जारी करती हैं, वे अपेक्षाकृत कम लोकप्रिय होती हैं, भारत में पेनी स्टॉक प्रकृति से इलिक्विड होते हैं। ऐसे व्यक्तियों को ढूंढना चुनौतीपूर्ण हो जाता है जो इस प्रकार के स्टॉक्स की खरीद करने के इच्छुक हों, इसलिए वे आपातकालीन स्थितियों में अधिक सहायक साबित नहीं होते। Penny Stocks Kya Hai

निम्न लागत: भारत में पेनी स्टॉक का मूल्य अक्सर 10 रुपये से कम निर्धारित किया जाता है। इसलिए, आप छोटे से निवेश के साथ पेनी स्टॉक लिस्ट से स्टॉक यूनिट की बड़ी मात्रा की खरीद कर सकते हैं।

Penny stocks में निवेश कैसे करे?

पैनी स्टॉक्स में निवेश करने का प्रोसेस कोही अलग नहीं होता है. इसे आप आमतौर पर जैसे शेयर खरीदते है उस तरह ही Demat Account के जरिये ही खरीद सकते है. यदि आपके पास Demat Account भी नहीं है तो निचे दिए गए किसी एक ब्रोकर से अपना अकाउंट ओपन कर सकते है.

Zerodha
Upstox

Penny stocks कैसे चुने

फंडामेंटल चेक करे
निवेश करने से पहिले उस कंपनी का फंडामेंटल एनालिसिस करे. जिसमे आप कम्पनी की आर्थिक स्थिति, कंपनी की मैनेजमेंट टीम आदि को चेक कर सकते है.

बैलेंसशीट चेक करे
आपको कंपनी की जांच करते समय कंपनी का बैलेंस शीट चेक करना बहुत महत्व पूर्ण है ताकि कंपनी की फाइनेंसियल कंडीशन का पता चल सके.

मार्किट कैप और लिक्विडिटी पर ध्यान दे
मार्किट कैप जय्दा होने पर ध्यान दे. जय्दा शेयर की संख्या हो तो लिक्विडिटी जय्दा होने की संभाना जय्दा होती है. जिसके कारन जय्दा कीमत मिलने पर आप अपने शेयर आसानी से बेच सके.

फ्यूचर प्लान देखे
Penny stocks में निवेश करते समय उस कंपनी का फ्यूचर प्लान देखना बहुत जरूरी है. ताकि फ्यूचर ग्रोथ की संभावना का पता चल सके.

Bubble Burst से बचे :
कही बार शेयर मार्किट में स्कैम करने वाले लोग Penny Stocks को टारगेट करते है. वो मार्किट में कंपनी की झूटी खबरे फैलाकर, शेयर की प्राइस को बढाने की कोशिश करते है.

खबरे ख़त्म होते ही प्राइस कम होती है. जिससे investors को ही नुकसान होता है. शेयर में निवेश करते समय आपको ऐसी खबरों की जांच करनी चाहिए ताकि सच्चाई का पता चल सके और और आप इस तरह के स्कैम से दूर रह सके. Penny Stocks Kya Hai



Penny Stocks पॉपुलर होने के कारण

पैनी स्टॉक्स लोगों में पॉपुलर होने के कही कारन है. जैसे की,

1) ज्यादा रिटर्न्स मिलने की संभावना
पैनी स्टॉक्स बहुत ही छोटे कंपनी के शेयर होते है, छोटी कंपनी के ग्रोथ की संभावना दुसरे Mid cap और Larg Cap से जय्दा होती है. यदि कंपनी में कुछ बड़ा प्रॉफिट कमाया या कुछ पॉजिटिव न्यूज़ आती है तो उनके शेयर के Price में बड़ी बढोतरी देखाने को मिलती है. इस कारण कुछ लोग पैनी स्टॉक्स में अच्छा प्रॉफिट कमाते है.

2) शेयर की Price कम होना
शेयर की प्राइस कम होने के कारण लोग इसके तरफ जय्दा आकर्षित होते है. कम Price होने के कारण रिस्क कम होती है. और Price ऊपर जाने की संभावना जय्दा होती है.

3) Multibagger होने की संभावना
कही बार बहुत ही कम समय में Penny Stocks Multibagger हो गए है. इस कारण मार्किट में कुछ अच्छे निवेशकों ने अच्छा रिटर्न्स भी कमाए है. इस कारण जय्दा रिटर्न्स कमाने के लिए लोग इस प्रकार के स्टॉक्स को जय्दा पसंद करते है.

पेनी स्टॉक्स में निवेश करते वक्त ध्यान रखें ये बातें

  • ऐसे पेनी स्टॉक में निवेश बिल्कुल ना करें, जिसमें अपर सर्किट या लोअर सर्किट लगता रहता है। ऐसे शेयरों में एक बार पैसा लगा देने के बाद उसे बेचना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में अगर लगातार लोअर सर्किट लगने लगते हैं तो भारी नुकसान उठाना पड़ता है।
  • ऐसा नहीं है कि सारे पेनी स्टॉक खराब होते हैं। पेनी स्टॉक में निवेश से पहले कंपनी के बारे में अच्छे से जान लें कि उसका क्या बिजनस है, क्या फ्यूचर प्लान हैं, कितना फायदा-नुकसान हो रहा है सब कुछ। अगर उस कंपनी का भविष्य दिखे तभी उसमें पैसे लगाएं।
  • पेनी स्टॉक्स में कभी कीमत देखकर निवेश ना करें कि सस्ता शेयर है तो कम पैसों में अधिक शेयर मिल जाएंगे। उस शेयर में निवेश करें जो रिटर्न अच्छा दे रहा हो, भले ही उसकी कीमत हजारों में हो।
  • पेनी स्टॉक्स में अगर आप ट्रेडिंग कर रहे हैं तो ज्यादा लालच ना करें। अगर आपने जो सोचा है, उतने पैसे मिल गए तो तुरंत सौदा काट लें, वरना लालच में पड़े रहेंगे तो नुकसान भी झेलना पड़ सकता है। Penny Stocks Kya Hai

निवेशक पेनी स्टॉक्स क्यों खरीदते हैं?

पेनी स्टॉक्स में निवेश करने के कारण: पेनी स्टॉक में निवेश करने के बहुत सारे कारण हैं जो हर एक इन्वेस्टर को लुभाते हैं.

पेनी शेयर खरीदने के कुछ महत्वपूर्ण कारणों के बारे में नीचे बताया है―

  • कम प्राइस में ज्यादा शेयर मिलने के कारण: अधिकतर छोटे निवेशक पेनी स्टॉक्स के प्राइस की तरफ ही आकर्षित होते हैं। आपको पता है कि पेनी स्टॉक को आप सिर्फ 1 रुपए में भी खरीद सकते हैं तो अगर आपके पास 100 रुपये भी हैं तो आपको उस कंपनी के 100 share मिल जाएंगे. जबकि वहीं अगर आप एक मजबूत कंपनी जैसे कि टीसीएस (TCS) का शेयर खरीदेंगे तो आपको 3000 रुपये से भी ज्यादा में केवल एक शेयर मिलेगा। इतनी कम कीमत में ज्यादा शेयर खरीद कर लोग खुद को एक समझदार निवेशक समझते हैं जबकि होता इसका उल्टा है.
  • ज्यादा रिटर्न के चक्कर में: लोगों को लगता है कि अगर कोई शेयर सिर्फ 2 रुपये जैसे कम मूल्य पर मिल रहा है तो उसका प्राइस 4 रुपये होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा बजाय एक 2000 रुपये के शेयर के 4000 रुपये होने में. अगर देखा जाए तो लोग इन पेनी स्टॉक्स और लार्ज कंपनियों के शेयर की तुलना करते हैं।
    लेकिन अगर आप इतिहास उठा कर के देखे तो पेनी स्टॉक्स की सभी कंपनियों के रिटर्न को भी मिला दे तो फिर भी वे Nifty 50 इंडेक्स की आधी कंपनियों के रिटर्न्स को भी beat नहीं कर पाएंगे।
  • ग्रोथ के कारण: कम कीमत वाले शेयरों में चांसेस के चांसेस ज्यादा होते हैं क्योंकि वह कंपनियां बिल्कुल छोटी होती हैं या उनका बिजनेस छोटे स्केल पर हो रहा होता है जिसको भविष्य में बड़े स्तर पर किया जा सकता है। इसीलिए लोग अगला टाइटन या फिर अगला एचडीएफसी बैंक का शेयर खरीदने के चक्कर में पड़े रहते हैं और इसीलिए वह अच्छे पेनी स्टॉक्स की तलाश करते रहते हैं। क्योंकि अगर आपने एचडीएफसी बैंक या फिर किसी बड़ी कंपनी के शेयर में उस समय निवेश किया होता जब वह कंपनी एक पेनी स्टॉक्स थी या फिर कंपनी का साइज और मार्केट कैपिटलाइजेशन बहुत कम थी तो आपका पैसा मल्टिप्लाई होकर आपको मल्टीबैगर रिटर्न दे चुका होता।

यह तीनों ही कारण सिर्फ छोटे रिटेल निवेशकों को ही नहीं बल्कि बड़े इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स को भी आकर्षित करते हैं जो कि अच्छा खासा पैसा पेनी स्टॉक्स में लगाकर मल्टीबैगर रिटर्न मिलने की आशा करते हैं। Penny Stocks Kya Hai

पेनी स्टॉक्स के फायदे और नुकसान क्या-क्या हैं?

पैनी स्टॉक्स के फायदे―

  • पेनी स्टॉक्स में निवेश करके कम राशि लगाकर ज्यादा प्रॉफिट या मुनाफा कमाया जा सकता है।
  • कम कीमत में ज्यादा शेयर खरीदने को मिल जाते हैं।
  • छोटी कंपनी होने के कारण उसमें ग्रोथ की संभावना ज्यादा होती है।
  • इनकी वोलेटाइल प्रकृति होने के कारण बहुत ही कम समय में बहुत ज्यादा रिटर्न दे जाते हैं इसलिए यह इन्वेस्टर्स की पहली पसंद होते हैं।

पेनी स्टॉक्स के नुकसान―

  • ज्यादातर पेनी स्टॉक्स स्मॉल कैप, माइक्रो कैप या नैनो कैप कंपनियों के होते हैं जिसके कारण इन वायरस को बहुत ज्यादा होता है क्योंकि कंपनी कितनी छोटी होती है उसमें रिस्क भी उतना ही ज्यादा रहता है।
  • इन स्टॉक्स में लगातार 5 फ़ीसदी, 10 फीसदी या 20 फीसदी के अपर सर्किट या लोअर सर्किट लगते रहते हैं जिससे शेयर की ट्रेडिंग करना मुश्किल हो जाता है जिससे आप शेयर को खरीद नहीं पाते हैं या फिर अपने खरीदे हुए शेयर को बेच नहीं पाते हैं।
  • इनमें लिक्विडिटी बहुत कम होती है इसीलिए कोई भी ऑपरेटर इन्हें बड़ी आसानी से ऑपरेट कर सकता है और शेयर का प्राइस ऊपर नीचे करके आपको लालच देकर फंसा सकता है।
  • इन स्टॉक्स के प्राइस बिना किसी कारण के ऊपर नीचे होते रहते हैं. जिस इंडस्ट्री में वह स्टॉक काम करता है अगर उस इंडस्ट्री के बारे में कोई नेगेटिव न्यूज़ आ गई तो अचानक से उसका प्राइस गिर जाता है या कुछ तो ऐसी कंपनियां होती हैं जो पूरी तरह से खत्म हो जाती हैं।
  • पेनी स्टॉक्स ही सबसे ज्यादा पंप और डंप स्कीम का हिस्सा बनते हैं मतलब पहले जानबूझकर किसी शेयर को पंप किया जाता है मतलब उसका प्राइस बढ़ाया जाता है और जब छोटे रिटेल निवेशक उस पेनी शेयर में लालच के चक्कर में फस जाते हैं तो ऑपरेटर उसे बेचकर मुनाफे के साथ अपना पैसा निकाल देते हैं, जिससे बात ही बचे हुए सब लोगों का नुकसान हो जाता है।




पेनी स्टॉक्स में निवेश करना चाहिए या नहीं? 

मैं आपसे कहना चाहता हूं कि पेनी स्टॉक्स में निवेश करना बुरा नहीं है लेकिन आपको किसी भी एक पेनी स्टॉक में अपना पूरा पैसा निवेश नहीं करना चाहिए। और ध्यान रखिए कभी भी अपना ज्यादा पैसा पेनी स्टॉक्स में ना लगाएं। पेनी स्टॉक्स को आप एक्सपेरिमेंट करने के लिए खरीद सकते हैं

  • मतलब अगर आपके पास 1000 रुपये है तो आप 100-100 रुपये 10 अलग-अलग पेनी स्टॉक्स में लगा सकते हैं इस प्रकार अगर 8 कंपनियां लंबे समय में डूब भी गई और केवल दो कंपनियों ने ही अच्छे रिटर्न्स दिए तो वह आपके पूरे लॉस को रीकवर कर लेंगे

क्योंकि पेनी स्टॉक्स में रिटर्न बहुत ज्यादा मिलते हैं अगर वह चल जाए तो. इसीलिए इस प्रकार के शेयर खरीदते समय अपने पोर्टफोलियो को अलग-अलग स्टॉक्स में डायवर्सिफाई करें ऐसा करने से आप का रिस्क काफी हद तक कम हो जाता है। तो अब आप जान चुके होंगे कि आपको पेनी स्टॉक्स खरीदना चाहिए या नहीं और इसमें क्या क्या रिस्क शामिल होते हैं? अब आइए जानते हैं कि―

कोई शेयर पैनी स्टॉक है या नहीं कैसे पता करें? 

पेनी स्टॉक का मतलब केवल कम कीमत वाला शेयर ही नहीं होता है बल्कि आपको कोई शेयर पेनी स्टॉक है या नहीं इसका अंदाजा मार्केट कैप देखने से लगता है.

उदाहरण के लिए― अगर किसी share की कीमत 100 या 200 रुपये है और मार्केट कैप 1000 करोड़ से भी कम है तो वह पेनी स्टॉक ही होगा।

और वहीं दूसरी ओर अगर किसी स्टॉक का प्राइस 5 रुपये या 10 रुपये है और उसकी मार्केट कैप 50 हजार करोड़ से भी ज्यादा है तो आपको से पेनी स्टॉक नहीं बोल सकते हैं। इस प्रकार आप किसी कंपनी की मार्केट कैप देखकर पता लगा सकते हैं कि कोई शेयर पेनी स्टॉक है या नहीं। अगर आप मार्केट कैप के बारे में नहीं जानते हैं तो आपको बता दूं कि किसी कंपनी के टोटल शेयर को उसके करंट शेयर प्राइस से मल्टिप्लाई करने पर जो अमाउंट आता है उसे मार्केट कैप या मार्केट कैपिटलाइजेशन कहते हैं।

मार्केट कैपिटलाइजेशन = कुल शेयर की संख्या × शेयर की कीमत

Top 10 Penny Stocks In India

नीचे इंडिया के Top Penny Stocks की लिस्ट दी गई है, जिनकी परफॉरमेंस देखकर आप एक अंदाजा लगा सकते है _

Company Sector Market Cap (CR.)
DISH TV INDIA Broadcasting and Cable Tv 1897
GMR INFRASTRUCTURE Airport Service 15090
HFCL Cable Network 3391
VODAFONE IDEA LTD. Telecom Service 28735
INDIAN OVERSEAS BANK Banking 27861
NBCC LTD. Construction and Development 8631
RAIL VIKAS NIGAM Construction 6182
TV18 LTD Broadcasting 5006
TRIDENT LTD. Textile 7236
NHPC LTD. Electronic transmission 24761

Penny Stocks और Blue Chip में फर्क?

Penny Stocks शेयर मार्केट में Low Market Cap वाली कंपनी के द्वारा जारी किए जाते हैं साथ ही छोटे और अधिक रिस्क लेने वाले निवेशक इस प्रकार के Stock को ज्यादा Prefer करते हैं| कभी कम रिटर्न तथा कभी ज्यादा रिटर्न के साथ इस प्रकार के निवेश में नुकसान भी झेलना पड़ता है, रिटेल इन्वेस्टर मुख्यतया Penny Stocks को खरीदने में ही रुचि रखते हैं|

जबकि Blue Chip Stocks बहुत ही भरोसेमंद, पॉपुलर, हाई मार्केट कैप वाली कम्पनियाँ होती है जो Financial Level पर मजबूत होती है| यह सेक्टर और मार्केट लीडर्स होती है जो कई बड़े उतार-चढाव में भी टिकी रहती है और लॉन्ग रन में इन्वेस्टर्स को काफी अच्छे रिटर्न प्रदान करती है| उदाहरण है – HDFC Bank, TATA Steel, Reliance etc.



Penny Stocks इतने पॉपुलर क्यों है?

कई सारी वजह है जिनके कारण भारत में पैनी स्टॉक्स काफी पॉपुलर है और कई जगह तो इन्हें Multibagger भी कहाँ जाता है|

1 छोटी राशि से किया जा सकता है अधिक मुनाफा

कम Liquidity और कंपनी का Low Market Cap होने की वजह से शेयर में उतार-चढाव बहुत ही ज्यादा होता है| जिसके कारण इस प्रकार के स्टॉक्स में निवेश करने वाले निवेशक बहुत ही कम समय में बड़ा नुकसान करवा सकते हैं या बहुत अधिक मुनाफा भी कमा सकते हैं|

2 स्माल कंपनियों के लिए होते है लाभकारी

बड़ी कम्पनियों में तो निवेश करने के लिए बड़े निवेशक मिल जाते है पर छोटी कम्पनियों को Public Funding जुटाने और अपने Business को बड़ा करने में इस प्रकार के Stocks का बहुत योगदान होता है|

3 कम कीमत के कारण अधिक संभावनाएँ

कीमत कम होने के कारण प्राइस ऊपर जाने के चांसेस भी काफी हाई रहते है| कई बार यह पैनी स्टॉक्स Multibagger भी साबित हुए है जहाँ इनकी कीमत 2 से 5 गुना भी हुई है|

4 होते है बहुत ही ज्यादा रिस्की और रिवॉर्ड

किसी भी अन्य पॉपुलर शेयर्स की तुलना में इन पैनी स्टॉक्स पर भरोषा नहीं किया जा सकता| उसका कारण है इनका छोटा Market Capitalization, Low Profit और Week Future Plan जो कंपनी के फ्यूचर पोटेंसिअल के बारे में नहीं बताता|

5 इन्हें खोजना होता है आसान

स्टॉक मार्केट में करीब 2200+ स्टॉक ऐसे है जिनकी कीमत 50 रुपये से नीचे है और पैनी स्टॉक माने जाते है| आप Screener पर जाकर उन्हें आसानी से खोज सकते है|

मुझे आशा है की आप लोगो को समझ आगया होगा की , दोस्तों अगर आपको मेरा ये Article अच्छा लगा हो तो Share जरूर करे | 

Thanks for reading

Be the first to comment on "Penny Stocks Kya Hai | Top 10 Penny Stocks In India"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*