SMS Kya Hai? What is the history of SMS?

sms full form in hindi ;sms bomber ;sms का अर्थ in hindi ;मैसेज नहीं आ रहा है ;मैसेज क्या है ;एसएमएस फॉरवर्ड ;airdot sms meaning in hindi ;ax nhp sms

SMS Kya Hai? Hello दोस्तों स्वागत है आपका technicalbandu.com के इस नए पोस्ट मैं जिसमें आप जानेंगे की SMS Kya Hai? What is the history of SMS? इस पोस्ट को पढ़कर आपको कही और जाने की जरूरत नही है क्योंकि आज मैं आपको SMS Kya Hai? Related सब Points Clear करूंगा.उसके लिए बस आपको इस पोस्ट को Last तक पढना है |

SMS Kya Hai? | What Is SMS?

आप सभी को प्रतिदिन कई सारे एसएमएस प्राप्त होते होंगे व आप भी किसी को एसएमएस भेजते होंगे व आप जो साधारण टेक्स्ट किसी को भी भेजते हैं उसको sms कहा जाता हैं उदाहरण के लिए आप जिस कंपनी का सिम इस्तमाल करते हैं उनके अलग अलग ऑफर के बारे में आपको कई सारे एसएमएस प्राप्त होते होंगे ये सभी SMS होते है.

आप बहुत ही आसानी से किसी को भी एसएमएस भेज सकते हैं इसके लिए आपके पास उस व्यक्ति के  मोबाइल नंबर होने जरुरी हैं उसके माध्यम से आप उसे अपने कोई भी msg type कर के उस व्यक्ति को भेज पाएंगे.

SMS का इतिहास क्या है? | What is the history of SMS?

इस SMS की concept को सबसे पहले develop किया गया Franco-German GSM cooperation ने सन 1984 में. इसे develop किया था Friedhelm Hillebrand और Bernard Ghillebaert ने.

सबसे पहला text message को सन 1992 में Neil Papworth के द्वारा भेजा गया था, जो की एक पूर्वतन developer थे Sema Group Telecoms में. Mobile phones में तब कोई keyboards नहीं हुआ करते थे, इसलिए Papworth को message को PC में type करना होता है. Papworth की पहली text थी — “Merry Christmas” — जिसे की उन्होंने Richard Jarvis को successfully send किया था Vodafone में.

ज्यादातर पहले के GSM mobile phone handsets में text messages की सुविधा नहीं होती थी. पहला SMS gateways cellphones के लिए हुआ करते थे network notifications, usually ये voice mail messages के बारे में notification प्रदान करते हैं

Nokia वो पहली handset manufacturer थी जिन्होंने की total GSM phone line बनाया था 1993 में जो की support करता था SMS text messages को. सन 1997 में, वो पहला manufacturer बना जो की ऐसे mobile phone produce करता था जिसमें की full keyboard की feature होती थी: Nokia 9000i Communicator.

जैसे की सभी नयी technology में होता है, वैसे ही SMS की initial growth भी बहुत slow हुई प्रारंभिक दौर में. वहीँ सन 2000 तक कई mobiles में SMS की बहुत सी नयी features को implement किया गया.

NFT (Non-Fungible Tokens) Kya Hai

Top 5 Best Earning Gaming App ?Ludo King, Winzo gold, MPL

MSG का Full Form क्या है?

दोस्तों यह msg का फुल फार्म क्या है उसके बारे में भी जानना आप लोगों के लिए कहीं ना जरुरी है| इसी लिए यहां पर msg फुल फार्म क्या है उसके बारे में जानकारी दिया गया है|

MSG full form ::- “Message”

दोस्तों msg का फुल फार्म है “message” यानी की message को short form में msg कहा जाता है|
Message का Short Form क्या है::-
दोस्तों यहां पर आपको already बता दिया गया है की msg का फुल फार्म है Message यानी की बिलकुल समझ गए होगें की आखिर यह message का short form क्या है

Msg का मतलब क्या होता है?

दोस्तों msg भी एक प्रकार का message service है और यहां पर आपको एक बार में कितना character का msg भेजना है उसका कोई भी limitations नहीं होता है|

Msg service में आप जितना चाहे उतना लम्बा सन्देश भेज सकते हो|

SMS भेजने के लिए आपको 160 character का limitations दिया जाता है लेकिन msg में इसका कोई भी limit नहीं रहता है |

SMS के फायदे क्या होते है?

No Internet Connection – एसएमएस का सबसे बड़ा फायदा है की इसके लिए आपको इंटरनेट की जरुरत नहीं है। अगर हम बात करे व्हाट्सप्प, फेसबुक की तो इसके लिए मैसेज भेजने वाले और मैसेज को रिसीव करने वाले दोनों के फ़ोन में internet होना जरुरी है।

अगर मैसेज भेजने वाले के फ़ोन में internet नहीं है तो वह मैसेज भेज नहीं पाएगा। और अगर मैसेज receive करने वाले के फ़ोन में internet नहीं है तो वह मैसेज को रिसीव नहीं कर पाएगा। लेकिन एसएमएस में आप बिना internet के भी एक दूसरे को मैसेज भेज और रिसीव कर सकते है।

Message Dropping – एसएमएस की एक और खासियत की आप अपनी सुविधा अनुसार कभी भी भेज सकते है जैसा आप जानते है की कालिंग एक लाइव प्रोसेस है इसमें आप कॉल करते है और अगर सामने वाला यूजर network area में हुआ तो फ़ोन लग जाता है नहीं तो फ़ोन कनेक्ट नहीं हो पता है।

इसी की विपरीत आप मैसेज को छोड़ सकते है और अगर सामने वाला user active नहीं भी हुआ तो भी मैसेज एसएमएस सेंटर में सेव हो जाता है और उस यूजर के एक्टिव होने पर चला जाता है।

जैसे अगर किसी का फ़ोन मिल नहीं रहा हो तो आप उसे एक मैसेज भेज सकते है की “आपका फोन उपलब्ध नहीं है कृपया मुझे कॉल करें” और जब वह network area में आएगा उसे यह मैसेज मिलेगा तो वह तुरंत आपको फ़ोन करेगा।

Convenient – इसके अलावा एसएमएस एक सुविधाजनक स्रोत भी है। इसे आप अपनी इच्छा के अनुसार कभी भी इस्तेमाल कर सकते है जैसे अगर आप किसी को बर्थडे विश करना चाहते है और वह रात को सो गया हो तो आप उसे फ़ोन करने की जगह message कर सकते है जिससे उसकी नींद भी ख़राब न हो और जब वह सुबह सो कर उठे तो उसे आपका मैसेज भी मिल जाए।

SMS के नुक्सान क्या क्या होते है?

Word Limitation – इसमें एक नुक्सान है और वह है शब्द सीमा। SMS में आपको 160 शब्दों की सीमा मिलती है। एसएमएस में आपको 160 शब्दों के अंदर ही अपने message को लिखना होता है अगर आप इससे बड़ा message लिखते है तो वह खुद ब खुद मैसेज टूट कर अगला मैसेज 2 हो जाएगा।

Less Priority – एसएमएस में आपको कम प्राथमिकता मिलती है। आपने देखा होगा की कभी मैसेज यूजर के पास एक सेकंड में पहुँच जाता है तो कभी एक घंटे में पहुँचता है। तो ऐसा भी अक्सर होता है।

SMS Recharge – आप जानते ही होंगे की मैसेज को इस्तेमाल करने के लिए अलग से रिचार्ज करना पड़ता है और उस पैक में आपको 1000 मैसेज तक या इससे ज्यादा भी मिल सकते है। अब यह पहले तो बहुत अच्छा लगता था लेकिन जब से whatsapp, facebook और बाकी सारे सोशल मीडिया आए है तब से इनका इस्तेमाल कम हो गया। क्योकि जब आप whatsapp में बिना अलग से कोई रिचार्ज के आप अनलिमिटेड मैसेज भेज और रिसीव कर सकते है तो कोई एसएमएस का रिचार्ज क्यों कराएगा।

हालांकि आज भी दुनियाभर में sms का इस्तेमाल खूब हो रहा है क्योकि आज भी दुनियाभर में इंटरनेट पहुंच नहीं पाया है। और वैसे भी कोई भी कंपनी, ब्रांड या बैंक आपको sms के द्वारा ही information भेजते है।

SMS और MMS में क्या अंतर है?

SMS: SMS का Full Form होता है Short Message Service और इसे अक्सर “text message” भी कहा जाता है. एक SMS में आप एक message को जिसमें की 160 characters तक ही characters रह सकती हैं उसे किसी दुसरे device तक भेज सकती हैं.

यहाँ पर लम्बे messages automatically ही छोटे messages में split up हो जाते हैं. ज्यादातर cell phones इस प्रकार की text messaging को support करते हैं.

MMS: MMS का Full Form होता है Multimedia Messaging Service. इस प्रकार की text messaging एक evolution होती है SMS की. यहाँ एक MMS में, आप एक message में pictures, video, और audio content किसी दूसरी device को भेज सकते हैं. सभी नए cell phones की multimedia capabilities MMS को support करती हैं.

उम्मीद करता हूँ आपको ये जानकारी SMS Kya Hai? पसंद आई होगी। जुड़े रहिये हमारे साथ और भी नई तरह की जानकारियों के लिए।

मुझे आशा है कि आप मेरी बात समझ चुके होंगे अगर आपको कुछ भी जानकारी चाहिए या content मैं कुछ भी गलती लगे

तो जरूर कमेंट करें |

आपको यह content helpful लगा हो तो प्लीज इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें

Thanks for reading

Be the first to comment on "SMS Kya Hai? What is the history of SMS?"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*